सोनिया गांधी ने की PM Modi के फैसलों की तारीफ, कहा – सभी EMI को 6 महीने के लिये टाल दें

New Delhi : कांग्रेस प्रमुख Sonia Gandhi ने कहा कि पूरे देश में 21 दिन तक लॉकडाउन का सरकार का फैसला स्वागत योग्य है, हम इसका समर्थन करेंगे. उन्होंने PM Narendra Modi को पत्र लिखकर 21 दिन के लॉकडाउन का समर्थन किया साथ ही डॉक्टरों और अर्द्धचिकित्सकों की रक्षा करने तथा आपूर्ति श्रृंखला को आसान बनाने के लिए कदम उठाने की मांग की. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र को छह महीनों के लिए सभी ईएमआई को टालने पर विचार करना चाहिए, इस अवधि के लिए बैंकों द्वारा लिया जाने वाला ब्याज भी माफ करना चाहिए.

देश में कोरोनावायरस के मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं. कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर अब 649 हो गई है. वहीं, इस बीमारी के शिकार 13 लोगों की मौत हो चुकी है. इस वायरस से महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा तीन लोगों की जान गई है. इसके बाद गुजरात में दो लोगों की मौत हुई. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, गुरुवार को 43 नए मामले सामने आए हैं. हालांकि, राहत की बात यह है कि इस बीमारी से 43 लोग ठीक हुए हैं.

कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए देश में किए गए 21 दिन के बंद (लॉक डाउन) के मद्देनजर बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने केंद्र और राज्य सरकारों से गरीबों के लिए राहत पैकेज की मांग की है. बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा “देश की 130 करोड़ गरीब/मेहनतकश जनता पर 21 दिनों के लॉकडाउन/कर्फ्यू वाली पाबन्दियों को कड़ाई से लागू करने के बाद, खासकर गरीब लोगों का पेट भरने अर्थात उनकी रोटी-रोजी की समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों द्वारा राहत पैकेज की व्यवस्था करना बहुत ही जरूरी है. इस पर तुरन्त ध्यान दें.

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में कहा ” साथ ही देशव्यापी बंद की इस स्थिति में निजी क्षेत्र को दी गईं विभिन्न रिआयतों के साथ-साथ केंद्र और राज्य सरकारें यह भी सुनिश्चित करें कि वहाँ काम करने वाले लोगों को भी महीने का वेतन मिल सके. लोगों से भी अपील है कि वे सरकारी निर्देशों का अनुपालन करें. “
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को एक ट्वीट में कहा “इस कठिन समय में सरकार को तत्काल देश के सभी जन-धन खाताधारकों के बैंक खातों में सहायता धनराशि स्थानांतरित करने का प्रबंध करना चाहिए. साथ ही जो लोग रास्तों पर भटक रहे हैं उनके भोजन-पानी, चिकित्सा और सुरक्षित दूरी बनाए रखते हुए रैन-बसेरों का भी इंतज़ाम करना चाहिए
यादव ने सरकार से अपील है ” गरीब लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था तत्काल करें ताकि वे लोग घास खाने पर मजबूर न हों. साथ ही सब्ज़ी जैसी दैनिक उपयोग की चीज़ों को खरीदने के लिए जाने वालों पर पुलिस संयम बरते.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 34 = 36