महादेव की शक्ति के आगे यहां विज्ञान भी फेल, दिन में तीन बार रंग बदलता है ये अनंत शिवलिंग

New Delhi : वेदों और शास्त्रों में भगवान शिव को जगदगुरू बताया गया है। शिव ही सर्वोपरि तथा सम्पूर्ण सृष्टि के स्वामी हैं। भारत में भगवान शिव ही इकलौते ऐसे हैं जिन्हें कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी और गुजरात से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक सभी समान रूप से पूजा जाता है।

आज हम आपको भगवान शिव के ऐसे चमत्कारी शिवलिंग के बारे में बताने जा रहे हैं जो दिन में तीन बार अपना रंग बदलता है। राजस्थान के धौलपुर जिले में है अचलेश्वर महादेव मन्दिर। धौलपुर जिला राजस्थान और मध्य प्रदेश की सीमा पर स्थित है।

यह इलाका चम्बल के बीहड़ों के लिए भी प्रसिद्ध है। कभी यहाँ बागी और डाकूओं का राज हुआ करता था। इन्हीं बीहड़ों में मौजूद है, भगवान अचलेश्वर महादेव का मन्दिर। इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत है यहां स्थित शिवलिंग दिन मे तीन बार रंग बदलता है।
सुबह के समय इसका रंग लाल रहता है तो दोपहर को केसरिया और रात को यह चमत्कारिक शिवलिंग श्याम रंग का हो जाता है। इस शिवलिंग के बारें में एक बात और भी प्रसिद्ध है कि इस शिवलिंग का अंत आज तक कोई खोज नहीं पाया है। आसपास के लोग बताते हैं कि बहुत साल पहले इस शिवलिंग के रंग बदलने की घटना का पता लगाने के लिए खुदाई हुई थी। तब पता चला कि इस शिवलिंग का कोई अंत भी नहीं है। काफी खोदने के बाद भी इस शिवलिंग का अंत भी नहीं हुआ। तबसे इस शिवलिंग की महिमा और भी बढ़ चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 3 = 4