PM Modi ने पतंजलि, RSS, आर्ट ऑफ लिविंग समेत 16 संगठनों से की बात, कहा – गरीबों की मदद करिये

New Delhi : PM Narendra Modi ने सोमवार दोपहर में वीडियो क्रांफ्रेसिंग के जरिए करीब 16 सामाजिक और आध्यात्मिक संस्थानों के प्रमुखों और प्रतिनिधियों से कोरोना वायरस को लेकर बात की। PM Modi ने सभी संस्थानों गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद करने और उनके लिए आवश्यक चीजें जुटाने की अपील की। उनकी इस अपील पर पतंजलि योगपीठ की ओर से सोमवार की शाम 25 करोड़ रुपये के दान की घोषणा की गई। पतंजलि के प्रमुख आचार्य बालकृष्ण ने इसकी घोषणा करते हुए कहा – प्रधानमंत्री रिलीफ फंड में हम पतंजलि की ओर से 25 करोड़ का योगदान कर रहें हैं और साथ में पतंजलि के रुचि सोया और सहयोगी संस्थाओं के जितने भी कर्मचारी, सेवाकर्मी भाई-बहन हैं वो अपनी एक-एक दिन का वेतन भी दे रहें हैं।

इधर PM Modi ने गायत्री परिवार, पतंजलि योगपीठ, ईशा फाउंडेशन, आर्ट ऑफ लिविंग, रामकृष्ण मिशन, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सहित 16 संगठनों से अपील की है कि देशभर में जहां भी उनके संस्थान हैं, वहां से गरीब लोगों की मदद की जाए। सभी संस्था प्रमुखों में कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने और मदद करने करने का आश्वासन दिया। प्रधानमंत्री ने इन संस्थानों द्वारा अपने स्तर पर लोगों की मदद के लिए किए जा रहे प्रयासों की प्रशंसा भी की। इस वीडियो कांफ्रेंस के जरिए मोदी ने सभी धर्म और समुदायों को भी एक साथ कोरोना वायरस के खिलाफ एकजुट करने की कोशिश की।

गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या ने बताया चर्चा के दौरान उन्होंने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हरसंभव सहयोग करने का अपना वादा दोहराया। प्रधानमंत्री मोदी ने डॉ. पण्ड्या से आग्रह करते हुए कहा कि आप स्वयं एक फिजीशियन भी हैं और वैज्ञानिक होने के नाते हुए इस बीमारी से बचने के लिए वैज्ञानिक तरीके से जनमानस को अवगत करायें। इस अवसर पर डॉ. पण्ड्या ने अपने मनोचिकित्सा एवं आध्यात्मिक चिकित्सा के प्रयोगों पर द्वारा लोगों के मन में संचारित उत्साह की जानकारी भी दी।
गायत्री परिवार प्रमुख डा. पण्ड्या ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस जैसे महामारी से लड़ने में गायत्री परिवार सहित सभी धार्मिक और सामाजिक संस्थानों से सहयोग मांगा। इसके साथ ही देशभर में फैले गायत्री परिवार के पांच हजार से अधिक प्रज्ञा संस्थानों द्वारा कोरोना वायरस के मद्देनजर फंसे लोगों में भोजन पैकेट पहुंचाने तथा मुख्यमंत्री राहत कोष एवं प्रधानमंत्री राहत कोष में आर्थिक रूप से किये जा रहे सहयोग से अवगत कराया।
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के भैयाजी जोशी, आर्ट ऑफ लिविंग के श्री श्रीरविशंकर, पतंजलि योगपीठ के स्वामी रामदेव, ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु जग्गी वासुदेव, रामकृष्ण मिशन, पटना साहिब, ब्रह्मकुमारीज विश्वविद्यालय. स्वामीनारायण अक्षरधाम, दरगाह अजमेर शरीफ, दाऊदी बोहरा समाज, पुट्टपर्ती सत्यसाईं, कैरिटास, दी क्रिश्चिया कोलिशन, कल्याणजी-आनंदजी, वर्द्धमान सेवा केंद्र इस वीडियो कांफ्रेसिंग में शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + 5 =