सोने से पहले अगर आप पढ़ेंगे रामायण की एक चौपाई, सभी मनोकामना होंगी पूरी

New Delhi: जाहिर सी बात है कि, हर काम को करने के लिए उसका एक समय निश्चित होता है औरअगर आप उस वक्त पर वह काम नहीं करते हैं तो आपको उसका नुक्सान उठाना पड़ता है। ऐसे में अगरआपको अक्सर कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, साथ ही आपका काम समय पर पूरा नहीं होरहा तो आप रामायण (Ramayana) की चौपाई पढ़ें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, रामायण (Ramayana) में हर तरह की समस्या का निदान दिया गया है। लेकिन उसके लिएआपको समझ और ज्ञान होना बेहद जरूरी है। अगर आपको रामायण की चौपाई पढ़ने ओर उससे जुडी कई चीजों का ज्ञान है तो आपउसमे से अपने जीवन की कई समस्याओं का हल निकल सकते हैं। ऐसे में ही हम आपको एक ऐसी चौपाई के बारे में बताने जा रहे हैंजिसको अगर आप रोजाना सोने से पहले पढ़ेंगे तो आपको कभी भी किसी समस्या से झूझना नहीं पड़ेगा। साथ ही आपकी सभी समस्याका हल रामायण की चौपाई पढ़ने के साथ ही निकल आएगा।

जो चौपाई आपके सभी हल और समस्याओं का समाधान है वह है:

जो प्रभु दीनदयाला कहावा। आरति हरन बेद जस गाबा।।  जपहिं नामु जन आरत भारी। मिटहिं कुसंकट होहिं सुखारी।। दीनदयालबिरद संभारी। हरहु नाथ मम संकट भारी

इस चौपाई को रात को सोने से पहले पढ़ना चाहिए, इस चौपाई को पढ़ने से बड़े से बड़े संकट टल जाते हैं और हमें उन कठिन समस्याओंसे लड़ने की क्षमता भी प्राप्त होती है। इस चौपाई को पढ़ने के बाद प्रतिदिन राम भगवान जी की एक जाप जरूर करना चाहिए। अगरआप रोजाना इस चौपाई को पढ़ते हैं तो आपको कोई भी परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।

इस चौपाई के पढ़ने के साथ ही आपको एक बात और ध्यान रखनी होगी। याद रखें जब आप यह चौपाई पढ़ने जा रहे हों उस वक़्त आपसाफ़ जगह पर बैठे हो, ऐसा माना जाता है कि अगर आप कम समय में बहुत कुछ हासिल करना चाहते हैं तो आपको धर्म पर विश्वासरखना जरूरी है क्यूंकि वही एक रास्ता है जिससे आपको हमेशा सकारात्मक ऊर्जा मिलती रहेगी और आप हमेशा एक अच्छी सोंच केसाथ जीवन में आगे बढ़ने का लक्ष्य देख सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − = 9