ख़ूबसूरती के जाल में फँसकर पाकिस्तान को संवेदनशील जानकारी भेज रहे थे, 13 नौसेना के जवान गिरफ्तार

New Delhi : पाकिस्तान के लिए ऑनलाइन जासूसी के आरोप में रविवार को नौसेना के 11 कर्मचारियों समेत 13 लोगों को गिरफ्तारकिया गया। इन सभी पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंटों के हनीट्रैप के जाल में फंसकर, सोशल मीडिया के जरिए नौसेना की खुफियाजानकारी लीक करने का आरोप है। गिरफ्तार किए गए कर्मचारी मुंबई, कर्नाटक के कारवार और विशाखापट्टनम समेत नौसेना केअलगअलग बेस पर तैनात थे।

आंध्र प्रदेश पुलिस, नेवी इंटेलीजेंस और सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसियों की संयुक्त टीम ने जासूसी के मामले में पहले नौसेना के 7 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में इन 13 लोगों के शामिल होने की जानकारी मिली। नौसेना के सूत्रों ने न्यूज एजेंसीको बतायानौसेना के 11 कर्मचारियों को ऑनलाइन जासूसी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। संदिग्ध संपर्कों की आशंका के चलतेबड़ी संख्या में अधिकारियों के सोशल मीडिया प्रोफाइल भी खंगाले जा रहे हैं।

कर्मचारियों द्वारा सोशल मीडिया के गलत इस्तेमाल का मामला सामने आने के बाद नौसेना ने स्मार्टफोन और सोशल मीडिया केइस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है। हालांकि, पिछले कुछ महीनों में समान मामले सामने आने के बावजूद आर्मी और वायुसेना ने इस तरहका बैन नहीं लगाया है। नौसेना में स्मार्टफोन और सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर पाबंदी लंबे समय से लागू है। उन्हें केवल सख्ती सेलागू किया जा रहा है।

स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर अचानक लगाई गई इस पाबंदी की वजह से कर्मचारियों को अपने परिवार से संपर्क करना और निजीइस्तेमाल के लिए डिजिटल सेवाओं के इस्तेमाल में परेशानी रही है। हालांकि, नौसेना ने पुरानी तकनीक वाले 2जी मोबाइल फोनकरने की इजाजत दी है। इसका इस्तेमाल सीमित है और इसे इंटरसेप्ट भी किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + 2 =