वर्ल्ड इमोजी डे : इमोजी चिपकाओ समय बचाओ, जानिए इमोजी से जुड़ी कुछ खास बातें

New Delhi: फेसबुक, व्हाट्एप और तमाम सोशल मीडिया साइट्स पर इमोशन जाहीर करने का सबसे बेहतरीन जरिया बन गया है इमोजी। स्मार्टफोन से दोस्तों के साथ चैटींग करते हुए अगर हमें खुशी जाहीर करना है तो हंसने वाली इमोजी, अपने को दुखी दिखाना है तो रोने वाली इमोजी और प्यार का इजहार करना है तो दिल वाली इमोजी भेजते है। आज यानि 17 जुलाई को दुनिया में इमोजी डे मनाया जाता है, जानिए इससे जुड़ी कुछ खास बातें-

ऑफिशियल यूनिकोड स्टैंडर्ड लिस्ट के मुताबिक 2017 तक 2666 Emoji बनाई जा चुकी हैं। फिर 2018 में इसमें 157 इमोजी जोड़ी गई, जिसके बाद ये टोटल 2,823 हो गईं। फरवरी 2019 में इमोजीपीडिया ने बताया तथा कि इस लिस्ट में 230 नए इमोजी ऐड की जाएंगीं।

1990 के आखिरी दौर में Emoji का इस्तेमाल शुरू हुआ. सबसे पहले एप्पल ने आईफोन के की-बोर्ड में इसको शामिल किया. पहली बार Emoji डे साल 2014 में मनाया गया। 17 जुलाई का दिन Emoji डे के लिए चुना गया। जेरेमी बर्ग Emoji पर बेस्ड सर्च इंजन Emojipedia चलाते हैं।

वर्ल्ड इमोजी डे से एक दिन पहले टेक कंपनी बोबल एआई ने एक रिपोर्ट साझा में बताया कि ‘खुशी के आंसू’ और ‘ब्लोइंग ए किस’ इमोजी को भारत में स्मार्टफोन कन्वर्सेशन में उपयोग किए जाने वाले शीर्ष दो इमोटिकॉन्स के रूप में बताया है। बाकि के दस इमोजी हैं: स्माइलिंग फेस विद हार्ट आईज, किस मार्क, ओके हैंड, लाउडली क्राइंग फेस, बीमिंग फेस विद स्माइलिंग आईज, थम्स अप, फोल्डेड हैंड्स और स्माइलिंग फेस विद सनग्लासेस।

इमोजी आने के बाद अब लोग यही कर रहें हैं कि इमोजी चिपकाईयें और समय बचाइए।