लड़की को लगा होने वाला पति इंजीनियर है, पिता ने कहा- सैलरी स्लिप तो दिखाओ, लड़के के छूटे पसीने

NEW DELHI: उत्तराखंड के ऋषिकेश में बेटी की शादी करने गए बागबेड़ा के कन्या पक्ष के लोगों को पुलिस ने मुक्त करा दिया है। दहेज की मांग पर नौ रिश्तेदारों को लड़का पक्ष ने बंधक बना लिया था। मंगलवार को ऋषिकेश में शिवाजी नगर थाने की पुलिस ने छापामारी की थी।

लड़के को इंजीनियर बताकर धोखा देने वाले परिवार के बर्ताव और दहेज लोभी दूल्हा की हरकतों को देखकर लड़की ने शादी करने से इनकार कर दिया था। उनकी चंगुल से बचकर वह सोमवार रात शहर पहुंची और एसएसपी अनूप बिरथरे को घ’टना को जानकारी दी थी।

पीड़ित परिवार के बयान पर ऋषिकेश के कोतवाली थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है। लड़का पक्ष के लोग फरार हैं। पुलिस के संरक्षण में लड़की के परिजनों को मंगलवार रात टाटानगर के लिए ट्रेन से रवाना किया गया है।

पी’ड़िता के अनुसार, दहेज लोभी दूल्हे और उसके परिवार के अ’त्याचार से मेरा परिवार टूट चुका है। माता-पिता ने अच्छा लड़का और परिवार समझ मेरी शादी वहां तय की थी। लेकिन मेरी शादी उससे हो जाती तो मैं घुट-घुटकर म’र जाती। मैं एमएससी पास हूं। मुझे बताया गया कि लड़का सिविल इंजीनियर है। मैं माता-पिता और भाई समेत परिवार के आठ लोग 8 मार्च को ऋषिकेश पहुंचे। वहां मालूम हुआ- जिसे भगवान समझा, वह है’वान है। माता-पिता ने लड़के का पेमेंट स्लिप मांगा तो वह आनाकानी करने लगा। वहीं पता चला कि लड़का पक्ष के लोग अ’प’रा’धी प्रवृत्ति के हैं। वे अवैध कारोबार से जुड़े हुए हैं। लड़का वालों ने पहले बोला था कि बिना लेनदेन के शादी करेंगे। फिर 1.5 लाख रुपए मांगा तो परिवार वालों ने दे दिया।

9 मार्च को लड़का और 1.5 लाख रुपए मांगने लगा। मेरे पिताजी कारपेंटर का काम करते हैं। उनकी आमदनी इतनी नहीं कि डिमांड पूरी कर सकें। उन्होंने असमर्थता जताई तो लड़का वाले गालीगलौज और मा’र’पीट करने लगे। उनकी हरकत देख मैंने सोचा- शादी से पहले यह स्थिति है तो बाद में जीवन ब’र्बाद हो जाएगा।