टोयोटा कोरोला ने 2019 प्लग-इन हाइब्रिड इलेक्ट्रिक कार की पेश.. भारत को लेकर किया है खास करार

New Delhi:  Toyota Corolla ने 2019 पेइचिंग ऑटो शो में अपनी दो कारों का इलेक्ट्रिक वर्जन अनवील किया है। टोयोटा कोरोला और लेविन सिडैन कारों के ये दोनों ई-अवतार प्लग-इन-हाइब्रिड पावरट्रेन से लैस हैं।

बता दें कि टोयोटा ने पिछले साल ही घोषणा की थी कि कंपनी 2030 तक 5.5 मिलियन इलेक्ट्रिफाइड कारें हर साल दुनियाभर के बाजारों में बेचेगी। टोयोटा ने 2018 पेइचिंग ऑटो शो में अपनी दो इलेक्ट्रिक कारों को पेश किया है। जानकारी के मुताबिक, टोयोटा कोरोला और लेविन सिडैन कारों के ये दोनों ही ई-वर्जन प्लग-इन-हाइब्रिड पावरट्रेन से लैस हैं। ये इलेक्ट्रिसिटी पर 50 किमी तक की दूरी तय कर सकते हैं। 

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, इन कारों में 1.8 लीटर पेट्रोल इंजन भी दिया जा सकता है। साथ ही ये भी बता दें कि Toyota Corolla और Levin हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हाकल्स का प्रॉडक्शन अगले साल से शुरू हो जाएगा। और कंपनी चीन में इसे सबसे पहले शुरू करेगी। जानकारी के मुताबिक, 2020 तक चीन में टोयोटा 10 नई इलेक्ट्रिक कारें लॉन्च करने का प्लान बना रही है। ये भी बता दें कि 2017 में अकेले टोयोटा ने ही 140,000 इलेक्ट्रिफाइड वीइकल्स बेचे। 

जानकारी के लिए बता दें कि जल्द ही टोयोटा मारुति बलेनो और ब्रेजा बेचती देखी जा सकती है तो वहीं मारुति सुजुकी टोयोटा की हिट कार कोरोला बेचती नजर आएगी। बता दें कि पार्टनरशिप के लिए टोयोटा और सुजुकी मोटर्स ने हाथ मिलाया है। दोनों कंपनियों ने करार किया है कि भारत में वो मिलकर एक दूसरे की गाड़ियां बेचेंगी। दोनों कंपनियां हाइब्रिड कार और दूसरी गाड़ियां एक दूसरे को सप्लाई करेंगी। 

पहली बार मलेशिया गए अली फजल, भूले अपना बैग ,तीन दिन बाद आया वापस


 

बता दें कि ये करार दोनों के बीच भारत में बनीं गाड़ियों के लिए और भारतीय बाजार के लिए ही हुआ है। ये दोनों कंपनियां मेक इन इंडिया के तहत ज्यादा से ज्यादा भारत में बने पार्ट्स का इस्तेमाल करेंगी ताकि भारतीय कार बाजार में अपनी हिस्सेदारी को और बढ़ा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *