चीन ने चौथी बार मसूद को आ’तंकी घोषित होने से बचाया, राहुल बोले- PM मोदी जिनपिंग से डरते हैं

NEW DELHI: चीन की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) में मसूद अजहर को ग्लोबल आ’तंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो किए जाने के बाद भारत में राजनीति तेज हो गई है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है। चीन ने पिछले 10 सालों में 4 बार मसूद को ग्लोबल आ’तंकी घोषित होने से बचाया है। भारत को जहां झटका लगा है तो वहीं देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मोदी सरकार पर नि’शाना साधा।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से डरते हैं। जब भी चीन भारत के खिलाफ कोई एक्शन लेता है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ भी नहीं बोलते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन नीति पर भी तंज कसा और तीन प्वाइंट में समझाया। राहुल ने लिखा कि पीएम गुजरात में शी जिनपिंग के साथ झूला झूलते हैं, दिल्ली में जिनपिंग को गले मिलते हैं, चीन में उनके सामने झुक जाते हैं।

मसूद अजहर को वैश्विक आ’तंकवादी घोषित कराने की कोशिश में चीन की ओर से प्रस्ताव गिराए जाने के बाद कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति ‘कूटनीतिक आपदाओं’ का सिलसिला है। कांग्रेस ने मोदी सरकार के अलावा संयुक्त राष्ट्र में इस कवायद में रोड़ा अटकाने को लेकर चीन और पाकिस्तान की भी आलोचना की। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करते हुए कहा कि आ’तंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में यह एक दुखद दिन है। उन्होंने आज फिर आ’तंकवाद के खिलाफ ल’ड़ाई को चीन-पाक गठजोड़ ने आ’घात पहुंचाया है।