इंदौर में डाक्टर और मेडिकल स्टाफ पर हुए हमले की तस्वीर

योगीराज : UP में NSA, पुलिस-प्रशासन पर ह’म’ला किया तो एक साल जे’ल

New Delhi : Corona Virus की रोकथाम के लिये लगाये गये लॉकडाउन के दौरान पुलिसकर्मियों के साथ बदतमीजी की घटनाओं के देख अब उत्तर प्रदेश की CM Yogi Adityanath की सरकार ने सख्त फैसला लिया है। आदेश जारी किया गया है कि अब जो लोग भी पुलिसकर्मियों पर बदतमीजी करेंगे उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानी रासुका (NSA) लगा दिया जाये। देश में कई जगहों पर पुलिस और स्वास्थ्य कर्मियों पर बदतमीजी की खबरें आई हैं। जिसकी वजह से यह आदेश दिया गया है।
बता दें बिहार के मुंगेर जिला के कासिमबाजार थाना क्षेत्र के हजरतगंज इलाके में कोरोना वायरस संक्रमण के संदिग्ध व्यक्ति की जांच के लिए नमूना लेने गयी डॉक्टरों और पुलिस की टीम पर स्थानीय लोगों ने पत्थर फेंके थे। यही नहीं इंदौर समेत और जगहों पर भी ऐसे वाकये सामने आये।
बहरहाल सीएम योगी का यह फैसला पश्चिम यूपी के कुछ जिलों में पुलिसकर्मियों से हुई बदतमीजी की घटना के बाद आया है। 1 अप्रैल को यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में लॉकडाउन के दौरान घर से बाहर निकलने के लिए मना करने पर कुछ लोगों ने पुलिसकर्मियों से बदतमीजी की। इन लोगों ने यहां की मोरना पुलिस चौकी के एसआई समेत अन्य पुलिसकर्मियों से बदतमीजी की। इसमें चौकी प्रभारी समेत अन्य पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घा’य’ल हुए थे, जिन्हें इलाज के लिए मेरठ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
राष्ट्रीय सुरक्षा कानून राज्य के तहत कानून व्यवस्था की स्थितियों को बनाए रखने के क्रम में किसी भी नागरिक को हिरा’सत में लिया जा सकता है। इस कानून के तहत व्यक्ति को एक साल के लिए जे’ल में रखा जा सकता है। राज्य सरकार को इसके लिए यह बताना होता है कि संबंधित व्यक्ति पर एनएसए के तहत कार्रवाई की गई है। आरोप तय किये बिना उसे 10 दिनों तक जे’ल में रखा जा सकता है।
इधर कोरोनावायरस के आज 53 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से राजस्थान में 21, आंध्रप्रदेश में 12, आगरा में 9, गुजरात में 7, दिल्ली में 2 और महाराष्ट्र-गोवा में 1-1 मरीज मिला है। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 2 हजार 602 हो गई है। 191 लोग ठीक हुए हैं। इससे पहले गुरुवार को देशभर में 486 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यह एक दिन में संक्रमण का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे एक दिन पहले बुधवार को देश में इस सक्रमण के 424 मामले सामने आए थे। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट के मुताबिक हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार 301 है। इनमें से 2 हजार 88 का इलाज चल रहा है। 156 ठीक हो चुके हैं।

प्रधानमंत्री की अपील- लॉकडाउन के बीच जनता का हौसला बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो संदेश के जरिए जनता से एक बार फिर अपील की। उन्होंने कहा कि 5 अप्रैल को रात 9 बजे घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर 9 मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं। प्रकाश की महाशक्ति का एहसास होगा तो लगेगा कि कोई अकेला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

65 + = sixty eight