क्या प्री-प्लान थी दिल्ली हिंसा : ट्रम्प आयेंगे तो हम सड़कों पर उतर कर बतायेंगे…Video देखिये उमर ख़ालिद का

New Delhi : USA President Donald Trump के भारत दौरे के वक्त राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) केखिलाफ प्रदर्शन हुआ. इसी प्रदर्शन के बाद दिल्ली में हिंसा शुरू हुई, जिसकी चिंगारी तीन दिन तक भड़कती रही. अब BJP के IT सेलप्रमुख Amit Malviya ने एक वीडियो ट्वीट किया है जिसमें जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र नेता उमर खालिद भाषण दे रहे हैंऔर वो Trump के दौरे के दौरे के दौरान सड़क पर उतरने और विरोध प्रदर्शन की बात कह रहे हैं.

अमित मालवीय ने आरोप लगाया है कि क्या दिल्ली में हुई हिंसा सुनियोजित थी? अमित मालवीय ने वीडियो ट्वीट कर लिखा, ‘उमरखालिद पहसे से ही राजद्रोह के आरोपी हैं.  17 फरवरी को उन्होंने अमरावती में एक भाषण दिया. जहां पर उन्होंने बड़ी संख्या में मुस्लिमसमुदाय के लोगों को संबोधित किया और 24 फरवरी को हुए डोनाल्ड ट्रंप के दौरे के दौरान सड़कों पर उतरने की बात कही. ऐसे में क्यादिल्ली में हुई हिंसा टुकड़ेटुकड़े गैंग के द्वारा पहले से ही सुनियोजित थी?’

BJP नेता ने जो वीडियो ट्वीट किया है, उसमें जेएनयू के छात्र रहे उमर खालिद नज़र रहे हैं. भाषण में उमर खालिद कह रहे हैं, ‘हमवादा करते हैं 24 तारीख को जब डोनाल्ड ट्रंप भारत आएंगे, तो हम ये बताएंगे कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री और सरकार देश को बांटने काकाम कर रही है. महात्मा गांधी के उसूलों की धज्जियां उड़ा रही हैं और हिंदुस्तान की आवाम इसके खिलाफ लड़ रही है. हम तमाम लोगसड़कों पर निकल कर आएंगे, आप लोग आएंगे…’

सिर्फ अमित मालवीय ही नहीं बल्कि बीजेपी के अन्य नेताओं की तरफ से भी इस वीडियो को ट्वीट किया जा रहा है और उमर खालिद परआरोप लगाया जा रहा हैजेएनयू के छात्र नेता रहे उमर खालिद का नाम 2016 में हुई यूनिवर्सिटी में नारेबाजी की घटना में आया था. कन्हैया कुमार के साथ उमरखालिद को भी जेल भेजा गया था. बता दें कि बीते दिनों ही अरविंद केजरीवाल की सरकार ने इसी मामले में कन्हैया कुमार समेत अन्योंके खिलाफ राजद्रोह का मामला चलाने की अनुमति दी है.

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पिछले हफ्ते भारत आए थे, जिस वक्त वो यहां पर थे तभी दिल्ली में हिंसा भड़की थी. उत्तरपूर्वी इलाके में हुई इस हिंसा में अबतक 46 लोगों की जान जा चुकी है. नागरिकता संशोधन एक्ट के नाम पर हुई हिंसा के दौरान उत्तरपूर्वी इलाके में आगजनी, पत्थरबाजी, तोड़फोड़ की घटना हुई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + three =