विकास दुबे की पत्नी बोली- मैं पुलिसवालों के परिजनों से माफी मांगती हूं, अगर वो मुझे मिलता तो मैं ही उसकी जान ले लेती

New Delhi : कानपुर के गुनहगार विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे ने गुरुवार 23 जुलाई को कहा – मेरे लिये मेरे बच्चे ही मेरी जिंदगी हैं। मैं उनको पालने और योग्य नागरिक बनाने के लिये ही जी रही हूं। बच्चों को भी कभी कभार ही गांव लेकर जाती थी। विकास ने जो पुलिसवालों के साथ किया वो बिलकुल गलत था। पीडित पुलिसवालों के परिजनों से मैं माफी मांगती हूं। मैं अपने पति के कृत्य को लेकर सबसे माफी मांगती हूं।
आज तक और इंडिया टीवी न्यूज चैनल से खास बातचीत में ऋचा ने कहा – अगर ऐसी घटना के बाद विकास दुबे मेरे सामने होता तो मैं खुद उसको गोली मार देती। विकास ने बहुत बड़ा अपराध किया था। ऐसे में उसको माफ करने का कोई मतलब नहीं है। ऋचा दुबे ने बताया – कानपुर कांड के बाद विकास ने रात दो बजे फोन किया था और बताया कि उसका गांव में झगड़ा हो गया है वह बच्चों के साथ घर से भाग जाये। मैंने फोन पर ही उसे बुरा भला कहा। मैंने उससे कहा तूने हमारा घर उजाड़ दिया। उसने भी मुझसे गंदी भाषा में बातचीत की। उसके बाद मेरा उससे कोई संपर्क नहीं हुआ।
ऋचा दुबे ने बताया – इस घटना के बाद घर से दोनों बच्चों के साथ पैदल ही निकल गई। पास के एक निर्माणाधीन बिल्डिंग पर रात गुजारती थी। सातों दिन लखनऊ के उसी बिल्डिंग में रही। दिन में इधर उधर टहल कर समय बिताती थी। रात में सोने जाती थी। कानपुर कांड की पूरी जानकारी बस स्टैंड पर टीवी देखकर मिली। टीवी चैनल से बातचीत में ऋचा दुबे ने कई खुलासे किये।
उसने बताया – मैं सिर्फ अपने बच्चों को पाल रही थी। अपराध से कोई लेना-देना नहीं है। बच्चों को मैं अपराधिक माहौल से दूर रखना चाहती थी। मेरे जीवन का लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ मेरे बच्चे हैं। जब विकास को पता चल गया था पुलिस उसे पकड़ने के लिये आने वाली है तो उसे वहां से हट जाना चाहिये था। उसने जो किया वो बहुत गलत था।
करोड़ों की संपत्ति को लेकर ऋचा दुबे ने कहा – ये सब फर्जी खबरें हैं। अगर विकास के पास संपत्ति होती तो आज मैं छोटे घर में नहीं रहती, विदेश में रहती। मैं अपना दुख नहीं बयां कर पा रही हूं। घर से बाहर नहीं निकल पा रही हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty nine − = eighty five