पैगंबर पर अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट के बाद बेंगलुरु में हालात बेकाबू, 2 की जान गई, 60 पुलिस जवान घायल

New Delhi : बेंगलुरु के कुछ इलाकों में मंगलवार 11 अगस्त की देर रात साम्प्रदायिक हिंसा भड़क गई। गुस्साई भीड़ ने कांग्रेस विधायक के आवास पर धावा बोल दिया और उनके घर पर पथराव किया। आगजनी की। इस घटना के बाद शहर के हालात बेकाबू हैं। दरअसल कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे ने कथित तौर पर पैगंबर को लेकर अपमानजनक पोस्ट किया था, जिसकी प्रतिक्रिया में यह हिंसा हुई। करीब सौ की संख्या में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य एक जगह जमा हुये और कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर पर पत्थरबाजी की।

इतना ही नहीं, डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन पर भी पथराव किया गया। मूर्ति उत्तरी बेंगलुरु के पुलकेशी नगर विधानसभा सीट से विधायक हैं। न्यूज एजेंसी के मुताबिक कांग्रेस विधायक मूर्ति के भतीजे ने पैगंबर को लेकर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया था। कर्नाटक के गृहमंत्री ने कहा- मामले की जांच हो रही है, लेकिन तोड़फोड़ से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। सुरक्षा के मद्देनजर इलाके में अतिरिक्त बलों को तैनात कर दिया गया है।
अपने पैगंबर के कथित अपमान को लेकर विरोध-प्रदर्शन के दौरान गुस्साई भीड़ ने दोनों पुलिस थानों पर बोतल और पत्थर फेंके, जिसमें कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गये। हालांकि युवक ने दावा किया है कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक हो गया था और उसने वह पोस्ट नहीं किया था, जिसमें कथित तौर पर पैगंबर के अपमान की बात कही जा रही है।
पुलिस आयुक्त कमल पंत ने बताया कि कथित सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर भड़की हिंसा के बाद बेंगलुरु के डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन इलाके में उग्र भीड़ से झड़प के दौरान अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सहित करीब 60 पुलिसकर्मी जख्मी हो गये। उन्होंने कहा- उपद्रवियों पर काबू पाने के लिये की गई फायरिंग में दो लोगों की जान चली गई। एक घायल व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बेंगलुरु में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है और डीजे हल्ली व केजी हल्ली पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।
सदभावना यूथ सोशल वेलफेयर एसोसिएशन और बिलाल व अन्य मस्जिद से जुड़े लोगों ने बेंगलुरु के डीजे हल्ली पुलिस स्टेशन में कांग्रेस विधायक श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे के खिलाफ एक कथित सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। दूसरी ओर, बेंगलुरु के संयुक्त पुलिस आयुक्त संदीप पाटिल ने कहा कि हिंसा में शामिल रहे 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि और अधिक गिरफ्तारियां की जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ eighty seven = 88