सीने में नहीं, पीछे बैग में अपना ‘दिल’ रखकर घूमती है ये महिला

सीने में नहीं, पीछे बैग में अपना ‘दिल’ रखकर घूमती है ये महिला

By: Ravi Raj
January 13, 13:01
0
New Delhi : दिल को हाथों में थाम कर चलने की कहावतें तो आपने बहुत सुनी होगी पर क्या सच में ऐसा होते कभी देखा है 

नही तो चलिए आपको एक ऐसी महिला से मिलवाते हैं जो अपना दिल अपने हाथों में क्या बल्कि अपने बैग में ले कर घुमती हैं। जी हां, ये सुनकर भले ही आपको विश्वास ना हो पर ये सच है.. आप माने या ना माने लेकिन दुनिया में एक ऐसी भी महिला है जिसका दिल उसके सीने में नहीं धड़कता है बल्कि वो उसे अपने बैग में लेकर घूमती है।

कल तक जिन बातों को चमत्कार माना जाता था, आज साइन्स ने उन्हें ही सच साबित कर दिया है.. आप आर्टिफियल हार्ट लगाकर इंसान को ज़िंदा रखने वाली सर्जरी के बारे में तो जानते होगें जो कि अपने आप में किसी चमत्कार से कम नहीं है, पर हाल ही में मेडिकल साइंस ने इससे भी आगे जाकर कुछ ऐसा करिश्मा कर दिखाया है जिसे जान पूरी दुनिया हैरान रह गई। दरअसल ये मेडिकस साइंस का चमत्कार ही है कि ब्रिटेन की रहने वाली 39 वर्षीय साल्वा हुसैन का दिल उनके शरीर के बाहर काम रहा है।


असल में, साल्वा हुसैन को आज से लगभग 6 महीने पहले सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। सेल्वा की ये परेशानी इतनी गम्भीर हो गई कि उन्हें अस्पताल ले जाना पड़ा जहां जांच में पता चला कि उन्हें सीरियस हार्ट फेलियर की दिक्कत है। चूंकि साल्वा की हालात इतनी नाजुक हो चुकी थे कि उनकी सर्जरी भी नहीं की जा सकती थी.. ऐसे में उन्हें ज़िंदा रखने के लिए लाइफ सपोर्ट का सहारा लेना पड़ा।
 
इस गम्भीर हालत में साल्वा को जिंदा रखन के लिए डॉक्टर्स ने उनके लिए एक ऐसा आर्टिफीशियल दिल तैयार किया जो कि शरीर के बाहर होने के बावजूद भी बिल्कुल दिल ही तरह ही काम करता है और खून को पूरे शरीर में पंप करता है। उसके बाद से साल्वा इसी कृत्रिम दिल के सहारे जिंदा है.. ऐसे में साल्वा हर वक्त अपने साथ एक बैग रखती है जिसमें उनका दिल होता है । 2 बच्चों की मां साल्वा इसी तरह अपनी जिंदगी गुजार रही हैं ..

साल्वा के साथ हमेशा एक और बैक-अप सिस्टम, उनके पति और एक सहायक रहते हैं, ताकि अगर कभी साल्वा के सिस्टम में कुछ खराबी आए तो उसे तुरंत उसे बदला जा सके। दरअसल किसी गंभीर परिस्थिति में साल्वा के इस आर्टिफीशियल दिल को केवल 90 सेकंड के अंदर बदलना होता है।

वैसे फिलहाल साल्वा इस कृत्रिम दिल के सहारे अच्छी खासी जिंदगी जी पा रही हैं .. साल्वा का एक 5 साल का बेटा और एक 18 महीने की बेटी है। गौरतलब है कि साल्वा हुसैन दुनिया की दूसरी ऐसी शख्स हैं जिनके पास ऐसा कृत्रिम दिल है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।