सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी, एम्बी वैली नीलामी में टांग अड़ाई... तो सीधे भेज देंगे जेल

सुप्रीम कोर्ट की चेतावनी, एम्बी वैली नीलामी में टांग अड़ाई... तो सीधे भेज देंगे जेल

By: Rohit Solanki
October 12, 21:10
0
....

New Delhi: देश की सर्वोच्च अदालत ने गुरुवार को एम्बी वैली की नीलामी प्रक्रिया में सहारा ग्रुप द्वारा स्थानीय पुलिस को चिट्ठी लिखने पर नाराजगी जतायी है। सुप्रीम कोर्ट ने सख्त लहजे में चेतावनी दी है कि अगर एम्बी वैली को नीलाम करने पर अगर किसी ने टांग अड़ाई तो उसे सीधे जेल भेज दिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नीलामी प्रक्रिया जब हमारे आदेश से चल रही है तो कंपनी को पुणे पुलिस के एसपी (देहात) को चिट्ठी लिखकर मामले में दखल देने की क्या जरूरत है। कोर्ट ने सख्त लहजे में कहा है कि अब अगर किसी ने भी एम्बी वैली की नीलामी प्रक्रिया में दखल देने या बाधा डालने की कोशिश की तो वो अदालत की अवमानना का दोषी होगा और उसे सीधे जेल भेज देंगे।

सहारा ग्रुप के नीलामी प्रक्रिया में दखलंदाजी करने के SEBI के आरोपों पर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के नेतृत्व वाली खंडपीठ ने गुरुवार को कहा कि सहारा ग्रुप को अदालत की निगरानी में चल रहे कामकाज पर दखल देने की जरूरत नहीं। जस्टिस रंजन गोगोई और एके सीकरी की खंडपीठ ने महाराष्ट्र के DGP को निर्देश दिया है कि वह सुनिश्चित करें कि 48 घंटे के अंदर यह संपत्ति बांबे हाईकोर्ट के ऋणशोधन करने वाले (लिक्विडेटर) अधिकारी को सौंप दी जाए।

SC ने लिक्विडेटर अधिकारी को निर्देश दिया है कि वह बांबे हाईकोर्ट के सिटिंग जज व मामले में कंपनी जज जस्टिस एएस ओका की सीधी निगरानी में नीलामी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाए। आपको बता दें कि SEBI की ओर से पेश वरिष्ठ वकील अरविंद दातार ने SP को लिखे पत्र का हवाला देते हुए कहा कि अब पुलिस ने संपत्ति को अपने कब्जे में ले लिया है। जबकि सहारा समूह के वकील मुकुल रोहतगी ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि संपत्ति पर पुलिस को कब्जा नहीं दिया गया है। इस पर खंडपीठ ने कहा कि उन्हें इस मामले में फिलहाल अवमानना का मामला नजर नहीं आता।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।