2000 के नए नोट के सुरक्षा फीचरों का दावा फेल, 53 दिन बाद ही मार्केट में आ गया था जाली नोट

2000 के नए नोट के सुरक्षा फीचरों का दावा फेल, 53 दिन बाद ही मार्केट में आ गया था जाली नोट

By: Rohit Solanki
December 07, 20:12
0
New Delhi: पिछले साल नोटबंदी के समय सरकार और आरबीआई ने 2000 रुपए के नोटों को लेकर जो दावे किए थे वो दो महीने तक भी टिक नहीं पाए।

दरअसल, कालाधन और भ्रष्‍टाचार को खत्‍म करने का कारण बताते हुए PM मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। इस दौरान दावा किया गया था कि नए नोटों की नकल करना आसान नहीं है।

पाक आर्मी के पहले सिख अफसर की हुई शादी, अपने को धर्मनिरपेक्ष साबित करने में जुटी पाक सेना
 

नोटबंदी का ऐलान करते हुए पीएम मोदी का फाइल फोटो

आरबीआई ने भी यही दावा किया था और कहा था कि नकली मुद्रा रोकने में नए नोट काफी कारगर साबित होंगे। हालांकि, सरकार और आरबीआई के दावों की पोल सिर्फ 53 दिन बाद ही खुल गई, जब पहली बार 2000 का नकली नोट मार्केट में दिखा।

मैं हूं लंदन का मेयर सादिक खान, जलियांवाला बाग कांड पर शर्मिंदा हूं.. ब्रिटिश सरकार मांगे माफी
 

सबसे सस्ता और आसान तरीका बना प्रिंटर से नोटों की छपाई

नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्‍यूरो द्वारा 30 नवंबर को जारी रिपोर्ट के अनुसार, 2000 रुपये के कुल 2,727 नकली नोटों को 2016 में जब्‍त किया गया था। गौरतलब है कि 8 नवंबर, 2016 के बाद ही 2,000 व 500 रुपये के नए नोटों को मार्केट में उतारा गया था इसका मतलब है कि नकली नोट बनाने वाले नया नोट आते ही काफी सक्रिय हो गए।

मात्र 53 दिनों 8 नवंबर व 31 दिसंबर के बीच पुलिस और अन्‍य सरकारी एजेंसियों ने 2,000 रुपये के 2,272 नकली नोट जब्‍त किए जबकि उस वक्‍त देश के कोने कोने में लोग नए नोटों के लिए संघर्ष कर रहे थे।

राफेल का मुकाबला नहीं कर पाएगा कोई भी पाकिस्तानी फाइटर, 2000 KM की रफ्तार बनाती है सबसे घातक
 

सिर्फ 53 दिन बाद ही मार्केट में आ गया था 2000 का नकली नोट

2000 रुपये के सर्वाधिक नकली नोटों को गुजरात (1,300) में जब्‍त किया गया इसके बाद पंजाब (548), कर्नाटक (254), तेलंगाना (114), महाराष्‍ट्र (27), मध्‍य प्रदेश (8), राजस्‍थान (6) आते हैं। वहीं आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और हरियाणा में तीन-तीन मिले। जम्‍मू कश्‍मीर और केरल में दो नकली नोट और सबसे कम मणिपुर और ओडिशा जहां मात्र एक-एक नकली नोटों को बरामद किया गया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।