हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो आशीष रॉय को बंद करनी पड़ेगी डायलिसिस, बोले- मैं बहुत बड़ी आर्थिक तंगी में हूं

New Delhi : कई टेलीविजन सीरियलों में नजर आ चुके एक्टर आशीष रॉय की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। आशीष कई महीनों से किडनी की समस्या से जूझ रहे हैं। कुछ दिनों पहले कई महीनों से अस्पताल में भर्ती आशीष इसलिए डिस्चार्ज हो गये थे क्योंकि उनके पास बिल चुकाने के पैसे नहीं थे। एक इंटरव्यू में आशीष ने अपनी परेशानियों पर बात की है।
टाइम्स ऑफ़ इंडिया को दिए इंटरव्यू में आशीष ने कहा- मैं अस्पताल में भर्ती होने का खर्चा और ज्यादा नहीं उठा सकता था इसलिये घर वापस आ गया। मेरे शरीर में काफी पानी जमा हो गया था। डॉक्टरों ने अतिरिक्त पानी को काफी हद तक निकाल दिया है। उन्होंने मेरी गर्दन में एक टेम्पररी कैथेटर लगा दिया है। इससे मुझे काफी तकलीफ होती है क्योंकि यह एंटीने की तरह चुभता है। मैंने डॉक्टर से इसे निकालने के लिए कहा था लेकिन यह 10 डायलिसिस सेशन के बाद ही निकलेगा जब मेरी सर्जरी होगी। मेरी किडनियां खराब हो चुकी हैं और मुझे किडनी ट्रांसप्लांट करवाने की जरूरत है जिसमें तकरीबन 1 लाख रु. का खर्च आयेगा।

आशीष ने कहा- मुझे हर हफ्ते चार डायलिसिस सेशंस करवाने पड़ते हैं। एक डायलिसिस सेशन का खर्च तकरीबन 2000 रु. आता है। डायलिसिस करवाने में ही मेरी थोड़ी सी बची जमापूंजी खर्च होती जा रही है। जल्द ही मुझे डायलिसिस भी बंद करनी पड़ेगी क्योंकि मेरे पास अब पैसे नहीं हैं। मैं बहुत बड़ी आर्थिक तंगी से गुजर रहा हूं।
इसी साल जनवरी में भी आशीष गोरेगांव के एक अस्पताल में भर्ती हुये थे। तब उनके शरीर में 9 लीटर पानी जमा था। 4 लीटर पानी निकाल दिया गया था, जबकि 5 लीटर बाकी रह गया था। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद आशीष ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द बयां किया था। उन्होंने लिखा था- सुबह की कॉफी, बिना शक्कर की। ये मुस्कराहट मजबूरी में है जी। भगवान उठा ले मुझे।
आशीष को 2019 की शुरुआत में पैरालिसिस हुआ था। आशीष ने एक बातचीत में बताया था – मैं पैरालिसिस स्ट्रोक के बाद ठीक हो गया था लेकिन मुझे काम नहीं मिला। फिलहाल अपनी बचत पर अपनी जिंदगी गुजर-बसर कर रहा हूं। लेकिन वो भी खत्म होने वाली है। आशीष एक वॉइस ओवर आर्टिस्ट भी हैं और उन्होंने हॉलीवुड फिल्म ‘जोकर’ के हिंदी वर्जन में अपनी आवाज भी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty nine − = eighty