अफगानिस्तान में हैं माता का एक मंदिर, यहां मुसलमान भी बढ़-चढ़कर करते हैं माता की पूजा

New Delhi :  नवरात्र आनेवाला है और घर में माता की पूजा और जयकारे लगने वाले हैं। ऐसा केवल अपने देश में नहीं हो रहा है। दुनिया के अलग-अलग देशों में माता के भक्त मौजूद हैं और उनकी विधिवत पूजा कर रहे हैं। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि मुस्लिम देश अफगानिस्तान में भी माता का मंदिर है। जहां माता की पूजा में मुसलमान भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में मां शक्ति का मंदिर आसा पहाड़ी पर स्थित है। मान्यता है कि मां शक्ति आसमाई रूप में अपने भक्तों की हर आस पूरी करती हैं।

इसीलिए इन्हें आसमाई कहा जाता है। मां के इस स्वरूप के नाम पर ही इस पहाड़ी का नाम आसा पहाड़ी पड़ा। माता के इस मंदिर में माता के अतिरिक्त कई अन्य देवताओं की मूर्तियां हैं। इस मंदिर के पास एक बड़ी शिला है। इस शिला को पंजसीर का जोगी नाम से जाना जाता है।
इस जोगी के बारे में मान्यता है कि करीब 151 साल पहले जोगी इस स्थान पर तपस्या करने आए थे। लेकिन स्थानीय लोगों ने उन्हें बहुत परेशान किया। इसलिए वह शिलारूप लेकर मां के चरणों में स्थापित हो गए। तभी से इस शिला को उनके ही नाम से पुकारा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

79 + = eighty two