मदद तो नहीं पहुंची, लीगल नोटिस पहुंच गई- साइकिल गर्ल पर कानूनी पेंच, पिता बोले- प्रताड़ित कर रहे

New Delhi : कोरोना लॉकडाउन में पूरे देश की दुलारी बनी दरभंगा की चर्चित साइकिल गर्ल ज्योति कुमार को अब लोगों ने कोर्ट में घसीटकर औकात बताना शुरू कर दिया है। ज्योति गुरुग्राम में फंसे अपने पिता को साइकिल पर बिठाकर बिहार के दरभंगा पहुंच गई थी। करीब 1200 किलोमीटर साइकिल चलाकर। रातोरात वो बिहार में स्टार बन गई। सारे केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री ने क्या क्या वादे नहीं किये ज्योति के लिये। लेकिन अब ज्योति के घर पर सरकारी मदद पहुंचने के बदले कानूनी नोटिस पहुंच रहा है।

बहरहाल साइकिल गर्ल ज्योति कुमारी के पिता कानूनी पेंच में फंस गये हैं। दरअसल ज्योति कुमारी के पिता मोहन पासवान को गुरुवार को मुंबई की एक वेब सीरीज और डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माण कंपनी ने लीगल नोटिस भेजा है। कंपनी ने ज्योति के पिता पर करार तोड़ने पर केस करने की चेतावनी दी है।
बीते 27 मई को दरभंगा के सिंहवाड़ा प्रखंड के सिरहुल्ली निवासी साइकिल गर्ल ज्योति के पिता मोहन पासवान ने कंपनी के साथ ज्योति के संघर्ष पर फिल्म बनाने के लिये करार किया था। इसपर दो लाख 51 हजार रुपये कंपनी ने देने का करार किया था। अब कंपनी ने ज्योति के पिता की दूसरे कंपनी से करार करने पर आपत्ति जतायी है। लीगल नोटिस में कंपनी ने मोहन पासवान से कहा है – इस नये और गैरकानूनी करार को वे तुरंत रद्द करें। कंपनी नहीं चाहती है कि कोई विवाद हो।

इस संबंध में मोहन पासवान ने कहा – यह नोटिस उन्हें गुरुवार 2 जुलाई को ही मिला है। दलित समझकर उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। तरह-तरह से डराया-धमकाया जा रहा है, लेकिन मैं डरने वाला नहीं हूं। कंपनी के हर सवाल का जवाब कोर्ट को दिया जायेगा। मोहन ने कहा – जिस समय करार हुआ था उस समय मुझे गफलत में डालकर एक कागज पर हस्ताक्षर करा लिया गया था। रुपये देने का जो समय कंपनी ने तय किया था, उसने पूरा नहीं किया। कहा, वे वादा तोड़ें तो ठीक, मैं करार तोड़ूं तो गलत। मामले का कानूनी रूप से जवाब दूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ forty nine = fifty six