दूल्हे ने 4 करोड़ का दहेज ठु’कराया.. 1रु लेकर ससुर से बोला- आपकी बेटी ही मेरी सबसे बड़ी दौलत है

New Delhi : हरियाणा में एक ऐसी शादी हुई है जिसकी काफी तारीफ की जा रही है। खासतौर से दूल्हे ने शादी से पहले जो मांगरखी, उसके संबंध में कहा जा रहा है कि अब समाज को ऐसे मामलों पर गंभीरता से सोचना चाहिए।

दरअसल यह शादी सिर्फ एक रुपए में पूरी हो गई। इसके लिए किसी बाजे की धूम थी और किसी किस्म की फिजूलखर्ची। दूल्हाअपने कुछ रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आया और उसने बिना किसी दहेज या नकदी के शादी की। शादी की कुछ तस्वीरें सोशलमीडिया में गईं, जिसके बाद दंपती को देशविदेश से बधाइयां दी जा रही हैं।

हरियाणा के सिरसा स्थित आदमपुर इलाके में हुई यह शादी समाज के लिए कई संदेश छोड़ गई। दूल्हा बने बलेंद्र ने शादी से पहले हीशर्त रख दी थी कि वह तो दहेज लेंगे और किसी किस्म की फिजूलखर्ची को बढ़ावा देने वाली रस्मों का अनुसरण करेंगे। उन्होंनेलड़की देदी यही बहुत है। इस पर दुल्हन कांता और उनके परिजन सहमत हो गए। पहले मरीजन 4 करोड़ रुपए दहेज देने जा रहे थे।

इसके बाद जब बलेंद्र चुनिंदा रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आए तो उन्होंने भेंट के तौर पर एक रुपया और नारियल स्वीकार किया।बारात में कोई बैंडबाजा नहीं था और ही कोई भारीभरकम सजावट की गई। इस शादी पर स्थानीय लोगों ने कहा है कि यदि समाज मेंहर परिवार ऐसी पहल करे तो केवल हालात बेहतर होंगे, बल्कि बेटियों की शिक्षा पर अधिक ध्यान दिया जा सकेगा।

बलेंद्र का ताल्लुक गांव चूली खुर्द से है। उनके पिता का नाम छोटूराम खोखर और माता का नाम संतोष है। वहीं भजनलाल की पुत्रीकांता खैरमपुर से हैं। दूल्हादुल्हन उच्च शिक्षित हैं। कांता जीएनएम का कोर्स कर चुकी हैं। बलेंद्र के इस फैसले से दोनों परिवार बहुतखुश हैं। बलेंद्र ने अपने गांव में भी शादी को लेकर कोई दिखावा नहीं किया। साथ ही रिश्तेदारों से किसी किस्म का उपहार स्वीकार नहींकिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty nine + = 94