घर चलाने के लिये बच्ची साइकिल से बेचने लगी सब्जी, पसीजा पुलिस का दिल, गिफ्ट कर दी मोपेड

New Delhi : कोरोना आपदा और लॉकडाउन में कई ऐसी कहानियों सुनने को मिल रही हैं जिससे दिल पसीज जाता है। हौसले बुलंद हो जाते हैं। ऐसी ही हौसला बुलंद करने वाली स्टोरी असम के डिब्रूगढ़ में दिखी है। यहां की पुलिस ने कुछ ऐसा किया है कि चारो तरफ पुलिस का डंका बज रहा है। बेपरवाह लोगों से सख्ती करनेवाली पुलिस ने पूरे देश का दिल जीत लिया है।

असम के डिब्रूगढ़ पुलिस ने एक सब्जी बेचने वाली बच्ची को उसकी सुविधा और व्यापार के लिये एक मोपेड गिफ्ट में दी है। डिब्रूगढ़ पुलिस ने ट्विटर अकॉउंट पर इस बारे में जानकारी देते हुये बताया – जनमोनी गोगोई नाम की बच्ची इस समय में अपने घर का पालन पोषण करने के लिए साइकिल पर सब्जी बेचती है। इसलिये हमने उसके आत्मसम्मान से प्रेरित होकर और अपने डीजीपी के निर्देशों को ध्यान में रखते हुये उसे एक बाइक उपहार स्वरूप भेंट की है। हमलोगों ने आपस में सहयोग राशि इकट्ठा कर उसे यह उपहार दिया है।

देखते ही देखते डिब्रूगढ़ पुलिस का यह ट्वीट वायरल हो गया है। चौतरफा लोग इसकी तारीफ करने लगे। इस पर एक यूजर ने लिखा – ये असम के डिब्रूगढ़ से जनमोनी गोगोई है। ये एक स्टूडेंट है। मगर, लॉकडाउन के दौरान इसने अपने कंधों पर अपने परिवार का जिम्मा उठाया और साइकिल पर सब्जी बेचनी शुरू की। अब डिब्रुगढ़ पुलिस उसकी लगन को देखते हुए उसके घर गई और उसे उसके काम के लिए एक स्कूटी भेंट की।
सोशल मीडिया पर डिब्रूगढ़ पुलिस के इस कदम को बहुत सराहा जा रहा है। यूजर्स इन तस्वीरों को शेयर करते हुये पुलिस की काफी तारीफ कर रहे हैं और जनमोनी को भी आशीष दे रहे हैं। कोई बच्ची को महान बेटी बोल रहा है, तो कोई उसे योद्धा पुकार रहा है। कुछ लोग ऐसे भी हैं जो डिब्रुगढ़ पुलिस के आत्मीय भाव को देखकर फूले नहीं समा रहे। यूजर्स इस कदम को एक आदर्श उदाहरण बता रहे हैं और डिब्रूगढ़ पुलिस को धन्यवाद दे रहे हैं।

लोगों का कहना है कि इस बच्ची की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। इसने अपने घर परिवार की जिम्मेदारी उठाई और अपनी व अपने परिवार की मदद करने की ठानी। ये कर्म योगी है। यूजर्स इस बाइक की तस्वीर को देखकर पुराने गाने और यादों को भी ताजा कर रहे हैं और बता रहे हैं कि एक समय ऐसा था जब कोयंबटूर के हर घर में ये काम करने वाला घोड़ा (tvs XL100 बाइक) होता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + seven =