गर्दन और पैर टूटने के बावजूद क्रिकेट खेलने के लिए तैयार है 19 साल का ये क्रिकेटर

गर्दन और पैर टूटने के बावजूद क्रिकेट खेलने के लिए तैयार है 19 साल का ये क्रिकेटर

By: Adill Malik
August 11, 19:08
0
.

NEW DELHI : CRICKET के मैदान पर जब किसी खिलाड़ी को गहरी चोट लग जाती है तो उसे खेल में वापसी करने के लिए महीने लग जाते हैं।

वहीं दूसरी तरफ 19 साल के एरोन मैकडरमोट हैं जो क्रिकेट के मैदान पर अपनी गर्दन और पैर तुड़वाने के बाद भी दोबारा क्रिकेट खेलने को तैयार हैं। ओवनरेह के रहने वाले एरोन अपनी टीम बर्नडेनेट के लिए क्रिकेट खेलते हुए गंभीर रूप से चोटिल हो गए थे। हालांकि अब वह काफी बेहतर हैं और एक बार फिर क्रिकेट खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

शनिवार को बर्नडेनेट और स्ट्रेबेन के बीच खेले जा रहे मैच के दौरान एरोन के साथ ये हादसा हुआ। फील्डिंग के दौरान बाउंड्री रोकने की कोशिश में एरोन तेजी से दौड़ते हुए एक मेटल बार के टकरा गए। जिसके बाद उन्हें काफी चोट आई। एरोन ने कहा, मैं भाग्यशाली हूं कि मैं अब भी जिंदा हूं। ये मजाकिया है कि कैसे कुछ ही पलों में कितना कुछ बदल जाता है। मैच से पहले बारिश हुई थी, घास भी काफी हरी थी। मैच के दौरान जब बल्लेबाज ने शॉट खेला तो गेंद मेरे और दूसरे फील्डर के बीच में आ गई। मैं गेंद की तरफ दौड़ा और फिसलकर गेंद को हाथ से पकड़ने की कोशिश की लेकिन पिच काफी गीली थी और मैं फिसलता ही चला गया। मैने खुद को रोकने की कोशिश की लेकिन मैं नहीं रुक पाया। मैं तेज गति से जाकर किसी चीज से भिड़ गया। मैंने अपना पैर भी चोटिल कर लिया।

एरोन सच में काफी भाग्यशाली हैं जो उनकी जान बच गई। इसमें उनके साथी खिलाड़ियों की सूझ-बूझ शामिल है, जिन्होंने बिना समय गंवाए एमबुलेंस को बुला लिया। डॉक्टर ने बताया कि एरोन की गर्दन, पैर और सिर पर गहरी चोट आई है। एरोन ने बताया कि उनके सिर की चोट इतनी गहरी थी कि डॉक्टरों को उनके सिर की हड्डियां साफ दिख रही थी। डॉक्टरों का मानना था कि ऑपरेशन के जरिए उनके सिर और गर्दन में पिन डाली जाएगी लेकिन जब एरोन का एक्स-रे निकाला गया तो उन्हें लगा कि शायद ऑपरेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी।

एरोन को मंगलवार को घर भेज दिया गया। साथ ही उन्हें लंबे आराम की सलाह दी गई है। एरोन ने कहा, मुझे मैदान पर वापस जाने में काफी समय जरूर लगेगा लेकिन मैं फिर से क्रिकेट खेलने के लिए तैयार हूं। मैने अपनी पूरी जिंदगी क्रिकेट खेला है, मुझे इससे प्यार है। क्रिकेट मेरे दिल के बेहद करीब है। इस समय मैं केवल सकारात्मक रहने पर ध्यान दे रहा हूं जिससे कि मैं आगे बढ़ सकूं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।