शाही इमाम बुखारी बोले – कोरोना से बचना है तो मानो सरकार की बात, रमजान में इबादत करो घर में

New Delhi : दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम सैय्यद अहमद बुखारी ने लोगों से अपील की है कि वे रमजान की नमाज घर में ही पढ़ें। उन्होंने कहा है कोरोना आपदा और लॉकडाउन की वजह से कहीं भी भीड़ इकट‍्ठा करना न तो आपकी सेहत के लिये ठीक है और न ही सोसाइटी के लिये। इससे पहले केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी लोगों से अपील की थी कि वे घर में ही इबादत करें। इफ्तार की दावतें न करें। गरीब और जरूरतमंदों का ख्याल रखें, उनको खाना खिलायें।

दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम सैय्यद अहमद बुखारी ने आज कहा – अगर हम कोरोना से छुटकारा पाना चाहते हैं तो हमें सरकार के निर्देशों का पालन करना होगा। रमजान का पवित्र महीना शुरू होने जा रहा है। ऐसे में लोगों को अपने घरों में रहकर इबादत करें और सोशल डिस्टेंसिंगग को मेनटेन करें। इससे हम सभी की रक्षा कर सकेंगे।

इधर तबलीगी जमात के चीफ मौलाना साद ने 14 दिन का क्वारैंटाइन पूरा कर लिया है और अपनी कोरोना जांच कराई है। हालांकि अभी उनकी रिपोर्ट नहीं आई है। साद के वकील फुजेल अय्यूब ने यह जानकारी दी है। मौलाना साद पूछताछ के लिए पुलिस के सामने कब आएंगे? इस सवाल के जवाब में वकील ने कहा – क्रिमिनल प्रोसीजर कोड (सीआरपीसी) किसी को जाने और खुद को पेश करने को नहीं कहता। पुलिस को कुछ कदम उठाने हैं और वह क्वारैंटाइन के दौरान भी उठाए जा चुके हैं।

इफ्तार का सार्वजनिक आयोजन। डेमो फोटो

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलो में गुरुवार की तुलना में आज थोड़ी कमी देखने को मिली है। पिछले 12 घंटे में कोरोना वायरस के 922 नए मामले सामने आए हैं। गुरुवार को जारी स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 21393 हो गई है। कोरोना वायरस के कुल 21393 मामलों में से 16454 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 4258 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। महाराष्ट्र में अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 6710 हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + three =