सहवाग बोले- MS जैसा न कोई था, न कोई है और न ही कोई होगा, ओम फिनिशाय नम:

New Delhi : क्रिकेट प्रेमियों के दिलों पर 15 साल तक राज करने के बाद कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धौनी ने आज 15 अगस्त की शाम में इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास की घोषणा की। टेस्ट क्रिकेट से वे पहले ही सन्यास की घोषणा कर चुके थे। इस तरह काफी समय से चली आ रही इन अटकलों पर भी विराम लग गया है कि महेंद्र सिंह धौनी को वन-डे इंटरनेशनल मैचों में अब मौका दिया जायेगा या नहीं। धौनी भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफलतम कप्तान और विकेटकीपर हैं। उनके रिटायरमेंट की घोषणा के थोड़ी देर बाद ही सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

वैसे तो सब यह मानकर चल रहे थे कि धौनी सन्यास देंगे लेकिन आज शाम जैसे ही खबर आई ट‍्विटर पर वे नंबर वन ट्रेंड होने लगे। उनके चाहनेवालों के बीच उन्हें शुभकामनाएं देने की होड़ मच गई। उनके क्रिकेटर साथियों ने भी उन्हे खूब बधाई दी। सचिन तेंदुलकर ने कहा – क्रिकेट में आपका योगदान अमूल्य है। मेरे क्रिकेट जीवन का सबसा बेहतरीन क्षण आपके साथ खेला हुआ वह मैच था जब हम वर्ल्ड कप जीते थे। आपको नई पारी की शुभकामनाएं।

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- क्रिकेट में उनकी लीडरशिप क्वालिटी की बराबरी करना बहुत मुश्किल है। खासतौर पर खेल के छोटे फॉर्मेट में। शुरुआती दौर में उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से दुनिया को हैरान कर दिया था। हर चीज का अंत होता है। उन्होंने विकेट कीपर्स के लिए ऊंचे मानक तय किये हैं। उनका करियर बेमिसाल रहा।

विराट कोहली ने ट‍्वीट किया- हर क्रिकेटर को एक न एक दिन अपना सफर खत्म करना होता है। दुनिया ने आपकी उपलब्धियों को देखा है, लेकिन मैंने आपको। सभी बातों के लिए शुक्रिया कप्तान। आपके सम्मान में सिर झुकाता हूं। वीरेंद्र सहवाग ने लिखा- एमएस जैसा न कोई था, न कोई है और न कोई होगा। ओम फिनिशाय नम:।

महेंद्र सिंह धौनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने पहला 20-20 वर्ल्ड कप जीता था। 2011 में उनके नेतृत्व में ही भारतीय टीम ने वन-डे वर्ल्ड कप भी जीता था। उस वर्ल्ड कप को जीतने के लिये लगाया गया सिक्स आज भी क्रिकेट प्रेमियों के दिलों को धड़का देता है। महेंद्र सिंह धौनी को लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि भी मिली हुई है। रांची के रहनेवाले धौनी पद्म भूषण, पद्म श्री और राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित क्रिकेट खिलाड़ी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − eight =