सपा सांसद शफीकुर बोले- कोरोना अल्लाह का कहर, ईदगाह-मस्जिदें खोल दें, बचना है तो इबादत करें

New Delhi : उत्तर प्रदेश के संभल के सांसद शफीकुर रहमान ने साबित कर दिया है कि राजनीति करने के लिये साइंटिफिक बातें करना जरूरी नहीं है। बेतुकी बातों से भी पॉलिटिक्स चमचमाती रहती है। बहरहाल इस बार उन्होंने बकरीद के बहाने इलाके के वोट बैंक को मजबूत करने का तरीका ढूंढ निकाला है। सांसद ने 21 जुलाई को कहा- बकरीद में सरकार को सारे मस्जिद और ईदगाहें खोल देनी चाहिये। यह तो अब साबित हो गया है कि कोरोना वायरस महामारी अल्लाह का कहर है। अगर इंसानों के बस की बात होती तो इलाज मिल गया होता।

ईदगाह और मस्जिदें खुल जायेंगी तो लोग अल्लाह से दुआ करेंगे। उन्होंने कहा- बकरीद आ रहा है। ऐसे पाक समय में खुदा की इबादत ही इंसान को बचा सकती है। बाजार को खोला जाना चाहिये ताकि लोग जानवर खरीदें और अल्लाह पाक को कर्बानी से नवाजें। यह बेहद जरूरी हो गया है कि लोग अल्लाह की चौखट पर आयें और फरियाद करें। अभी तक कोरोना बीमारी का कोई इलाज नहीं खोजा जा सका है। साफ है यह बीमारी नहीं है। ऊपर वाले ने हमें सजा दी है।
इधर इस्लामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने बकरीद को देखते हुय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। उनसे मांग की है कि बकरीद में ईदगाह और मस्जिदें खोल दी जायें ताकि लोग इबादत कर सकें। मार्केट पर किसी तरह की पाबंदी न हो। लोगों को मनचाहा जानवर खरीदने दिया जाये ताकि कुर्बानी में कोई खलल न पड़े।
बता दें कि बकरीद का त्यौहार शनिवार को राज्य सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन के दिन ही पड़ने की आशंका है। इसलिए शनिवार और रविवार के लॉकडाउन को खत्म कर उसके स्थान पर मंगलवार और बुधवार को लॉकडाउन करने की डिमांड की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

55 + = fifty nine