रितेश ने अपने दम पर खड़ी की OYO कंपनी- आज है दुनिया का दूसरा सबसे युवा अरबपति

New Delhi : OYO रूम्स के बारे में आज कौन नहीं जानता। अपने घर से दूर जब कोई किसी एमरजेंसी में या घूमने के लिए बाहर निकलता है तो उसे OYO रूम्स ही सबसे सुलभ और सस्ते नजर आते हैं। आज लगभग सभी के फोन में OYO रूम्स का ऐप्प होता है। हो सकता है आप भी कभी न कभी OYO रूम में ठहरे हों लेकिन क्या आप जानते हैं पूरी दुनिया में अपनी पैंठ बना चुकी इस भारतीय कंपनी का मालिक और संस्थापक एक 26 साल का लड़का है। इस लड़के ने अपने दम पर महज 19 साल की उम्र में कंपनी की शुरुआत की थी और सिर्फ पांच सालों में न केवल कंपनी को बुलंदियों पर पहुंचाया बल्कि आज दुनिया का दूसरा सबसे युवा अरबपति बिजनेसमैन बन गया। अगर आप छोटी-छोटी असफलताओं से हार जाते हैं तो एक बार इस लड़के की कहानी को आपको जरूर पढ़ना चाहिए जिसका नाम है रितेश अग्रवाल।

19 साल की उम्र में की बिजनेस की शुरूआत- 19 साल की उम्र वो उम्र होती है जब ज्यादातर युवाओं को ये तक पता नहीं होता की उन्हें जीवन में क्या करना है लेकिन उड़ीसा के रहने वाले रितेश अग्रवाल अग्रवाल ने इसी उम्र में न केवल कंपनी की स्थापना कर दी बल्कि पूरी मशक्कत से कंपनी को बुलंदियों पर ले जाने में लग गए। रितेश अग्रावल पहले ऐसे इंडियन बने जिन्हें 1 लाख डॉलर की थील फेेलोशिप मिली। इसी फेलोशिप का सारा पैसा रितेश ने कंपनी को खड़ा करने के लिए लगा दिया था। थील फेसबुक के शुरुआती इन्वेस्टर्स में से एक रहे हैं। थील फैलोशीप ऐसे कारोबारियों को मिलती है जो 20 साल की उम्र तक कॉलेज छोड़कर बिजनेस करना चाहते हैं।
कॉलेज ड्रॉपआउट हैं रितेश- आज जिसके आदेश पर IIM और IIT जैसे नामी संस्थानों से पढ़े लोगों की टीम काम करती है उस रितेश अग्रवाल ने इंजीनीयरिंग के लास्ट इयर में कॉलेज छोड़ दिया था। बिना किसी बड़ी डिग्री के उन्होंने आज अपने दम पर ये मुकाम हासिल किया है। कॉलेज की पढ़ाई बीच में छोड़कर रितेश अग्रवाल ने लगभग 5 साल पहले 24 की उम्र में ओयो रूम्स की नींव रखी थी। आज कंपनी दुनिया के लगभग 500 शहरों में 1.2 लाख होटल रूम्स का प्रबंधन करती है।
पहले बैचा करते थे सिम – रितेश अग्रवाल की ये सक्सेस स्टोरी जितनी दिलचस्प है उतना ही लोगों को प्रेरित भी करती है। कुछ सालों पहले रितेश ओडिशा में एक छोटे से कस्बे में सिम कार्ड बेचते थे, लेकिन आज दुनिया से सबसे बड़े निवेशकों में से एक सॉफ्टबैंक के मासायोशी सोन चीन में ओयो रूम्स की एंट्री के साथ इसका पार्टनर बनना चाहते हैं। आज रितेश अरबों का कारोबार खड़ा कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

53 − = forty five