रिटायर्ड फौजी अपनी पत्नी के साथ चेक सौंपते हुये

रिटायर्ड फौजी ने ग्रेच्युटी-पेंशन के 15 लाख PM राहत कोष में दान कर दिये, कहा- देश का पैसा देश को लौटाया

New Delhi : कोरोना आपदा से लड़ने के लिए सेना से रिटायर्ड जूनियर कमीशन ऑफिसर मोहिंदर सिंह ने ग्रेच्युटी, पेंशन और कमाई से जोड़ी गई 15.11 लाख रुपए की रकम प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर दी। उन्होंने कहा- मुझे जो भी मिला, इसी देश से मिला है। अब जरूरत है तो मैं देश का पैसा देश को लौटा रहा हूं। 1971 के भारत-पाक युद्ध में अपनी एक आंख गंवा चुका यह जांबाज पत्नी सुमन चौधरी के साथ गुरुवार को पंजाब और सिंध बैंक पहुंचे और मैनेजर को चेक सौंप दिया। इस दौरान उन्होंने कहा- मेरी उम्र 85 साल हो चुकी है। मुझे पैसा कहां लेकर जाना है। लोगों की भलाई में जा रहा है मुझे इसकी खुशी है। दंपति ने बताया कि उनके दो बेटे और एक बेटी विदेश में नौकरी करते हैं जबकि एक बेटी दिल्ली में है।
रायपुर में 9 साल के ऐश्वर्य और 7 साल की बहन वीरा ने अपने गुल्लक में जमा किए 1770 रुपए मुख्यमंत्री सहायता कोष में दान दिए हैं। दोनों रायपुर के तात्यापारा के रहने वाले हैं। बुधवार को इन्होंने अपनी गुल्लक पुरानी बस्ती थाने के प्रभारी को सौंप दी। थानेदार ने भी बच्चों की बचत को सहायता कोष में जमा करा दिया।
इधर बॉलीवुड ऐक्टर अक्षय कुमार ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में PM-CARES फंड में 25 करोड़ रुपये का योगदान दिया था। अब उन्होंने 3 करोड़ की राशि BMC को पीपीई किट तैयार करने के लिए देने की घोषणा की है। अक्षय कुल 28 करोड़ की राशि दान में देने की घोषणा कर चुके हैं।

अक्षय कुमार ने BMC को 3 करोड़ रुपये दिये हैं


अभिनेता से मिले मदद की पुष्टि करते हुए बीएमसी के संयुक्त आयुक्त आशुतोष सलिल ने बताया – कुछ दिन पहले अक्षय कुमार ने बीएमसी कमिश्नर से बात की और उसके बाद उन्होंने दान दिया। हमें खुशी है कि अभिनेता हमें मदद कर रहे हैं। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि उनके द्वारा दी गई मदद प्रक्रियाओं में फंस न जाए क्योंकि हम देरी बर्दाश्त करने की स्थिति में नहीं है। उनकी ओर से मिले दान का उपयोग पीपीई, मास्क, दस्ताने और रैपिड टेस्टिंग किट के उत्पादन के लिए किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventy six + = eighty one