पहली बाद तीनों शीर्ष पदों पर BJP का कब्जा, लोग बोले-अब पूरा होगा हिंदुत्व राष्ट्र का सपना

पहली बाद तीनों शीर्ष पदों पर BJP का कब्जा, लोग बोले-अब पूरा होगा हिंदुत्व राष्ट्र का सपना

By: Rohit Solanki
August 11, 22:08
0
.

New Delhi: एम वेंकैया नायडू के उपराष्ट्रपति बनने के साथ ही देश के राजनीतिक इतिहास में पहली बार चार शीर्ष संवैधानिक पदों पर भाजपा काबिज हो गई है। शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के दरबार हाल में नायडू को पद की शपथ दिलाई। इसके बाद उन्होंने राज्यसभा के सभापति का कार्यभार भी संभाला। इसके साथ ही देश के तीनों शीर्ष पदों पर बीजेपी का कब्जा हो गया है।

11 बजते ही झकाझक सफेद शर्ट और परंपरागत लुंगी में हाथ जोड़कर सदन का अभिवादन स्वीकार करते हुए वेंकैया राज्यसभा पहुंचे। इसके बाद समूचा सदन पूरे सवा घंटे अपने नए सभापति की प्रशंसा करता रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संक्षिप्त भाषण में नायडू की पृष्ठभूमि में गरीबी, गांव और उनकी सोच की मिसाल पेश की। उन्होंने कहा कि आज गांव के गरीब देश के तमाम बड़े पदों पर आसीन है।

सदन में इस दौरान हंसी-मजाक का दौर भी चला। मोदी ने सांसदों से कहा कि आप सभी इनकी तुकबंदी से तो परिचित ही होंगे। आखिर में प्रधानमंत्री ने नायडू की तारीफ में एक शेर पढ़ा, 'अमल करो ऐसे अमन में, जहां से गुजरें तुम्हारी नजरें, उधर से तुमको सलाम आए।'

हंगामे में पास नहीं होने दें बिल : नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि वेंकैया नायडू साधारण पृष्ठभूमि से आते हैं, जिससे औरों को भी प्रोत्साहन मिलेगा। आजाद ने कहा कि कोई भी बिल शोर-शराबे में पास नहीं होने दें। इस पर सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि यह तय करना केवल सभापति की जिम्मेदारी नहीं है। शोर करने वालों को भी पता होना चाहिए कि आखिर ऐसा कर क्यों रहे हैं।

 

येचुरी बोले, 40 साल पुराना रिश्ता : माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने वेंकैया से अपना 40 साल पुराना नाता याद दिलाया। उन्होंने कहा कि यह भी एक विडंबना है कि जब आप सभापति बनकर आ रहे हैं, तो सदन में यह मेरा आखरी भाषण है। येचुरी ने कहा कि जब एक पत्रकार ने पूछा कि आप दोनों धुर विरोधी होकर भी एक साथ कैसे? इस पर नायडू ने कहा कि अगर मैं किसी ट्रेन में चढ़ूं और वहां येचुरी दिखें तो क्या मैं उतर जाऊं?

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।