केसरिया बार्डर वाले हरे रंग के वस्त्र में विराजेंगे राम लला, नौ ग्रहों की शांति के लिये नवरत्न भी होंगे

New Delhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच अगस्त को अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिये भूमि पूजन और शिलान्यास करेंगे। इस दौरान रामलला की मूर्ति को केसरिया बॉर्डर वाले हरे रंग की पोशाक पहनाये जाने की संभावना है। पोशाक नवरत्न युक्त होंगे, जिसे चार पीढ़ियों से राम लला के कपड़े सिल रहे बाबू लाल टेलर्स के द्वारा तैयार किया जायेगा। ‘बाबू लाल टेलर्स’ की दुकान दो भाइयों भागवत प्रसाद और शंकर लाल चलाते हैं। वे केवल मंदिरों में देवी-देवताओं के लिये कपड़े सिलते हैं।

भागवत प्रसाद ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुये कहा- राम लला के कपड़े चार पीढ़ियों से हमारी दुकान पर सिले जा रहे हैं। मेरे पिता के निधन के बाद, हम उनकी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। हम इस स्थल पर जाते थे और अपने पिता के साथ राम लला के कपड़े सिलते थे। 1992 में वे विराज गये। अब राम लला के कपड़े यहां मेरी दुकान पर सिले जा रहे हैं।
उन्होंने कहा – सरकार को पहले सिले हुए कपड़े के सात सेट दिये और उसके बाद भक्त भी देवता के लिये कपड़े लेने आये। राम लला की मूर्ति के लिए पोशाक में नवरत्न होंगे। रामदल सेवा ट्रस्ट के कल्कि राम ने 5 अगस्त के लिए दो ड्रेस के लिये ऑर्डर दिया है।
उन्होंने कहा- एक हरे रंग का है और दूसरा केसरिया है और ये दो-तीन दिनों में पूरा हो जायेगा। बुधवार का दिन भगवान गणेश का दिन है और हरा रंग देवता के साथ जुड़ा हुआ है। हरे रंग की पोशाक में केसर के बॉर्डर होंगे। राम लला के लिये सोमवार के लिए सफेद रंग और मंगलवार के लिये लाल रंग की पोशाक बनाने के ऑर्डर दिये गये हैं।
रामदल सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित कल्कि राम ने कहा – राम लला की वेशभूषा को भूमि पूजन के लिये भव्य तरीके से तैयार किया जायेगा। उन्होंने बताया- भूमि पूजन कार्यक्रम के दिन राम लला की पोशाक हरे और केसरिया रंग की होगी। पोशाक में नौ ग्रहों के लिये नवरत्न होते हैं। आम तौर पर पोशाक को डिजाइन करने और तैयार करने में दो दिन लगते हैं, लेकिन इस बार पोशाक को भव्य रूप दिया जा रहा है। पोशाक एक अगस्त तक पूरी हो जायेगी। (एएनआई)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventy three − sixty three =