राहुल-प्रियंका ने की बात, पायलट को चाहिये- प्रदेश अध्यक्ष, वित्त, होम डिपार्टमेंट और 4 समर्थक मंत्री

New Delhi : राजस्‍थान संकट को सुलझाने के लिये कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गाधी ने सचिन पायलट से बात की है। उनकी शिकायतों को सुलझाने के लिये एक पर्यवेक्षक जयपुर भेजा है। राहुल गांधी और प्रि‍यंका गांधी के अलावा अहमद पटेल, पी चिदंबरम और केसी वेणुगोपाल जैसे अन्य वरिष्ठ नेताओं ने स्थिति को सुझाने के लिए सचिन पायलट से बात की है। उन्हें जयपुर में पर्यवेक्षकों से बात करने के लिये कहा गया है। वैसे सचिन पायलट ने अपनी ओर से कुछ शर्तें रखी हैं।

इससे पहले दिन में पत्रकारों से बातचीत करते हुये कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा – अगर पार्टी में कोई भी परेशान है, तो उन्हें पार्टी के सदस्यों के साथ चर्चा करके इसका हल निकालना चाहिये। सोमवार देर शाम कांग्रेस के प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने फिर कहा – कल सुबह 10 बजे कांग्रेस विधायक दल की एक और बैठक बुलाई जायेगी। सचिन पायलट जी और उनके सभी विधायक साथियों से हमने अनुरोध किया है कि आइये और राजनीतिक यथास्थिति पर चर्चा कीजिये, अगर किसी व्यक्ति विशेष से कोई मतभेद है तो वो भी कहें।

सूत्रों की मानें तो सचिन पायलट ने मांग की है – प्रदेश अध्यक्ष का पद अपने पास रखना चाहते हैं, चार समर्थक विधायकों को मंत्री बनाना चाहते हैं और वित्त-गृह मंत्रालय अपने पास रखना चाहते हैं। अब खुद प्रियंका गांधी वाड्रा भी इस मामले में सक्रिय हुई हैं। इससे पहले सचिन पायलट दावा कर रहे थे कि उनके साथ 25 से अधिक विधायक हैं और वो जयपुर नहीं जायेंगे।

इधर कांग्रेस विधायक दल ने सर्वसम्मति से अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार का समर्थन करते हुये एक प्रस्ताव पारित किया। भाजपा पर विधायकों की खरीद फरोख्‍त में लिप्त होकर सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty two + = forty eight