राहुल गांधी ने कहा – पेट्रोल-डीजल की कीमत घटाओ, मिलिंद देवड़ा का विरोध – कोई फायदा नहीं

New Delhi : क्रूड ऑयल की घटती कीमतों के मद्देनजर देश में भी पेट्रेाल और डीजल की कीमतों में कटौती की मांग हो रही थी। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि जब इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमतें निगेटिव में चली गई हैं तो इसका फायदा भारत में भी पब्लिक को देना चाहिये। यहां तेल की कीमतें कम करनी चाहिये। राहुल गांधी की इस मांग का विरोध उनके ही पार्टी के नेता और कभी उनके बेहद करीबी माने गये मिलिंद देवड़ा ने किया है। देवड़ा ने कहा है कि अभी मार्केट में पेट्रोल डीजल की डिमांड है ही नहीं तो कीमत घटाने का कोई फायदा नहीं होगा।

देवड़ा के इस बयान से यह तो साफ हो गया है कि कांग्रेस में अभी भी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। मिलिंद देवड़ा भी ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर तेजी से अग्रसर हैं। बहरहाल कोरोना महामारी के बाद कच्चे तेल की कीमतों में लगातार रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई है। इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की घटी कीमतों का असर भारत की राजनीति पर भी देखने को मिल रहा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल ही में क्रूड ऑयल की घटी हुई कीमत को लेकर ट्वीट कर कहा था कि तेल के दाम शून्य से भी कम हो गए हैं, फिर भी भारत में दाम कम नहीं हो रहे हैं। इधर मिलिंद देवड़ा ने कहा कि भारत ब्रेंट क्रूड का इंपोर्ट करता है न कि डब्ल्यूटीआई क्रूड का। डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत सोमवार को निगेटिव में चली गई थी। देवड़ा ने कहा है कि गाड़िया चल नहीं रही हैं, इसलिए तेल के दामों में कटौती का उपभोक्ताओं को कोई फायदा नहीं होगा।

मिलिंद देवड़ा के इस बयान पर कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला सामने आए। उन्होंने ट्वीट कर कहा – मिलिंद देवड़ा भाई, अमेरिका अब भारत का 6ठा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता है। वर्ष 2019-20 के 6 महीनों में, हमने अमेरिका से 54 लाख टन कच्चे तेल का आयात किया। इसके अलावा, उत्तर भारत में अब फसल की कटाई का मौसम है, डीजल के साथ हार्वेस्टर्स ट्रैक्टर और ट्रक फिर से सप्लाई चेन को आगे बढ़ा रहे हैं।

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा था – दुनिया में कच्चे तेल की क़ीमतें अप्रत्याशित आंकड़ो पर आ गिरी हैं, फिर भी हमारे देश में पेट्रोल 69, डीज़ल 62 रुपए प्रति लीटर क्यों? इस विपदा में जो दाम घटे, सो अच्छा। कब सुनेगी ये सरकार?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− one = 4