PM बोले- भारतीय असंभव को पाने का जज्बा रखते हैं, कोरोना हो या इकॉनामी जीत का नेतृत्व करेंगे हम

New Delhi : इंडिया ग्लोबल वीक 2020 का उद्घाटन करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा – दुनिया की अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने से लेकर कोरोना के खिलाफ जंग तक में भारत की अग्रणी भूमिका होगी। यह पुनर्जीवित करने का समय है और यह स्वभाविक है कि वैश्विक पुनर्जीवन को भारत के साथ जोड़ा जा रहा है। पीएम ने देश के टैलेंट्स की तारीफ करते हुए कहा – भारतीय असंभव को भी पाने का जज्बा रखते हैं। उन्होंने कहा कि इतिहास बताता है कि भारत ने हर चुनौतियों से पार पाया है, चाहे वे सामाजिक हों या आर्थिक।

पीएम मोदी ने कहा- हम भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकवरी के संकेत देख रहे हैं। भारत दुनिया की सबसे खुली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। हम भारत में मौजूदगी के लिए सभी ग्लोबल कंपनियों के लिए रेड कार्पेट बिछा रहे हैं। भारत में जिस तरह की संभावनाएं हैं वैसी बहुत कम देशों में मिलेंगी।

पीएम ने कहा- महामारी ने एक बार फिर दिखाया है कि भारतीय फार्मा इंडस्ट्री ना केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया के लिए संपत्ति है। इसने दवाओं की कीमत घटाने में अहम भूमिका निभाई है। खासकर विकासशील देशों के लिए। भारत में बने टीके दुनिया की आवश्यकताओं का 2/3 हिस्सा पूरा करते हैं।

पीएम मोदी ने कोरोना के खिलाफ जंग में भारतीय कंपनियों के योगदान की चर्चा करते हुए कहा- आज हमारी कंपनियां वैक्सीन विकसित करने के दुनिया के प्रयासों में शामिल हैं। एक बार वैक्सीन की खोज हो जाने के बाद जिस पैमाने पर इसके उत्पादन की आवश्यकता होगी, उसमें भारत की अहम भूमिका होगी।

पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत को लेकर कहा- इसका अर्थ आत्मकेंद्रित होना या दुनिया से खुद को बंद कर लेना नहीं है, यह आत्मनिर्भर होने, आत्मोत्पादन करने के बारे में है। पीएम मोदी ने कहा- दुनियाभर में आपने भारतीय टैलेंट के योगदान को देखा है। भारतीय टेक इंडस्ट्री और टेक प्रफेशनल्स को आप नहीं भूल सकते हैं। वे दशकों से रास्ता दिखा रहे हैं। भारत योग्यताओं का पावर हाउस है जो योगदान देने को उत्सुक है।

ब्रिटेन द्वारा आयोजित इस डिजिटल कार्यक्रम में ‘आत्मनिर्भर भारत’ पर एक ऐसी प्रस्तुति दी जाएगी जिसे पहले कभी नहीं देखा गया है। इसमें 30 देशों के 5000 वैश्विक प्रतिभागियों को, 75 सत्रों में 250 वैश्विक वक्ता संबोधित करेंगे।

इस आयोजन में भाग लेने वाले अन्य वक्ताओं में विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर, रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू , ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु और आध्यात्मिक नेता श्री श्री रविशंकर शामिल हैं। ब्रिटेन के विदेश मंत्री डॉमिनिक राब और गृह सचिव प्रीति पटेल, भारत में अमेरिकी राजदूत केन जस्टर भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

इस कार्यक्रम में मधु नटराज की ‘आत्मनिर्भर भारत’ पर एक शानदार प्रस्तुति होगी और सुप्रसिद्ध सितार वादक पंडित रविशंकर के 100वें जन्मदिन पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके तीन प्रतिष्ठित छात्र संगीत का एक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। लंदन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, आयोजकों का अनुमान है कि इस कार्यक्रम में उद्योग और सामरिक विषयों के करीब 250 वक्ता भाग लेंगे और विश्व के कोने-कोने के 5000 से अधिक दर्शकों के समक्ष अपनी बात रखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty eight − forty nine =