पायलट भाजपा में शामिल नहीं होंगे, ‘प्रगतिशील कांग्रेस’ नाम से मोर्चा संभव, कांग्रेस को 16 MLA की तलाश

New Delhi : राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कांग्रेस तो छोड़ दी है लेकिन वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं होंगे। न्यूज चैनल एबीपी ने इससे संबंधित खबर में कहा है कि वे तीसरा मोर्चा बना सकते हैं। ऐसी उम्मीद की जा रही थी कि वे 13 जुलाई को जेपी नड्डा की मौजूदगी में भाजपा में शामिल होंगे। ‘प्रगतिशील कांग्रेस’ के नाम से तीसरा मोर्चा खड़ा करने की संभावना है। आज कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई गई है। इसके लिए कांग्रेस पार्टी ने व्हिप जारी किया है।

इस बीच खबर आ रही है कि कांग्रेस के 16 विधायक अभी तक जयपुर नहीं पहुंचे हैं। ये सभी सचिन पायलट खेमे के बताये जा रहे हैं। रविवार को पायलट ने बयान जारी करते हुये कहा – मेरे पास तीस विधायकों का समर्थन है और राजस्थान की अशोक गहलोत की सरकार अल्पमत में है। हालांकि, उन्होंने तीस विधायकों के नाम नहीं बताये हैं। वहीं कांग्रेस ने इन दावों खारिज कर दिया है।
सचिन पायलट आज नई पार्टी की घोषणा कर सकते हैं। कांग्रेस के एक तिहाई विधायकों के शामिल होने का दावा किया जा रहा है। इस तरह प्रदेश में तीसरे मोर्चे का गठन हो सकता है। ‘प्रगतिशील कांग्रेस’ के नाम से तीसरा मोर्चा खड़ा करने की संभावना है। दो विधायकों के घर सोमवार को इनकम टैक्स के छापे मारे गए। विधायक धर्मेंद्र यादव और राजीव अरोड़ा के घर विभाग की टीमें पहुंची। दोनों गहलोत के करीबी बताए जाते हैं।

राजस्थान में कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा- पायलट से बात करने की कोशिश की, मैसेज भी किया, लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया। वे पार्टी से ऊपर नहीं हैं। विधायक दानिश अबरार, चेतन डूडी और रोहित बोहरा प्रेस मीट में मौजूद रहे। सुबह से चर्चा की थी ये सभी विधायक दिल्ली गये हैं। इस दौरान तीनों ने बाड़ेबंदी की बात को सिरे से नकार दिया। उन्होंने कहा – हम जब तक जिंदा रहेंगे तब तक कांग्रेस में रहेंगे। कोई अपने व्यक्तिगत कारण से भी दिल्ली जा सकता है। हमारी आस्था पूरी तरह मुख्यमंत्री गहलोत में है। इस दौरान रघु शर्मा, हरीश चौधरी, प्रताप सिंह खाचरियावास, शाले मोहम्मद, सुखराम बिश्नोई भी मौजूद रहे।

कांग्रेस हाईकमान ने सचिन पायलट को भी जयपुर जाने को कहा है। उनको सोमवार को विधायक दल की मीटिंग में मौजूद रहने को कहा गया है। हालांकि उन्होंने जयपुर जाने से इनकार करते हुये अपना रुख साफ कर दिया- बहुत हुआ, अब नहीं। यही नहीं उन्होंने हाईकमान से मिलने का समय भी नहीं मांगा है। ऐसी खबरें आ रही हैं कि वे अपना अलग दल बना सकते हैं। वैसे अशोक गहलोत ने सोमवार सुबह 10.30 बजे विधायक दल की बैठक बुलाई है। सभी विधायकों को जयपुर पहुंचने को कहा गया है। केंद्र ने रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन को ऑब्जर्वर बनाकर जयपुर भेजा है।

वे यहां पर विधायकों से बातचीत करेंगे। इस बीच कपिल सिब्बल ने अपनी ही पार्टी पर तंज कसा- क्या कांग्रेस तभी जागेगी, जब उसके अस्तबल से घोड़े चले जायेंगे? अशोक गहलोत सुबह से अपने आवास पर कांग्रेस के विधायकों और मंत्रियों से मिल रहे हैं। सभी मंत्रियों और विधायकों को कहा गया है कि वह अपने क्षेत्र को छोड़कर जयपुर पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + three =