गणेश चतुर्थी आज, सबसे पहले पूजे जाते हैं गणेश, गणेश जी से सीखने चाहिए ये गुण

गणेश चतुर्थी आज, सबसे पहले पूजे जाते हैं गणेश, गणेश जी से सीखने चाहिए ये गुण

By: Aryan Paul
August 25, 07:08
0
New Delhi:

गणेश चतुर्थी के साथ ही त्योहारों और उत्सव का मौसम भी शुरू हुआ। सभी आर्थिक परेशानियों को दूर करने के लिए और धन-संपत्ति और समृद्धि प्राप्ति के लिए गणेश चुतर्थी पर गौरीपुत्र का आह्वान किया जाता है। माना जाता है कि भगवान गणेश अपने भक्तों के जीवन को धन-संपत्ति, समृद्धि और ऐश्वर्य से भर देते हैं।

भगवान गणेश के विशालकाय सिर से आपको कुछ बड़ा सोचने की प्रेरणा मिलती है। आपको एक ऐसी धन योजना बनानी चाहिए, जिसमें आपके अल्पकालिक, मध्यकालिक, और दीर्घकालिक लक्ष्य शामिल हों और उपयुक्त साधनों में निवेश करने की व्यवस्था हो। इसके लिए आपको एक ऐसा बजट तैयार करने की जरूरत है, जिसमें अपनी हैसियत के अनुसार खर्च करने और जोखिम उठाने की क्षमता के साथ आवश्यकता के आधार पर अलग-अलग विकल्पों में निवेश करने के लिए कुछ पैसे रखने की व्यवस्था हो, जो बहुत लोकप्रिय न भी हो तो चलेगा, लेकिन उनसे अच्छा रिटर्न मिलना चाहिए। इस बड़ी सी योजना में रिटायरमेंट प्लान, इंश्योरेंस खरीदने और पैसे जमा करने के उपाय भी शामिल होने चाहिए। 

भगवान गणेश की आंखें, एकाग्रता और ध्यान-मग्नता की प्रतीक हैं। अपने लिए एक योजना बनाने के बाद आपको अपने लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास करते रहना चाहिए और कभी हार नहीं माननी चाहिए। आपको ध्यान भटकने या निराश होने से बचने के लिए खर्च और बचत पर अनुशासन बनाए रखने की जरूरत पड़ती है। इस बात पर जरूर ध्यान देना चाहिए कि आपके आर्थिक उद्देश्य के अनुसार आपका आर्थिक विकास हो रहा है या नहीं। इसके अलावा अपने निवेश में जरूरत के अनुसार बदलाव करने के लिए भी तैयार रहना चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि बैंक अपनी ब्याज दरों में कटौती कर दे तो आपको अपने उधार और ईएमआई में कटौती करने की व्यवस्था करनी चाहिए। 

बजट पर ध्यान दें 

गणेश पूजा का आयोजन करने से आपको अपनी अर्थव्यवस्था को सुव्यवस्थित करने की शिक्षा मिलती है। इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करने के लिए खर्च को ध्यान में रखते हुए एक बजट तैयार करना पड़ता है और अलग-अलग खर्च के लिए आवश्यक अनुपात में पैसे का बंटवारा करना पड़ता है। आप इस शिक्षा का उपयोग करके अपने दैनिक जीवन में अपनी अर्थव्यवस्था को सुव्यवस्थित कर सकते हैं और अपनी आमदनी व खर्च पर नजर रख सकते हैं। हर महीने अपने आर्थिक बजट के अनुसार ही खर्च और बचत-निवेश करें। अपने बजट के अनुसार खर्च करने से आपको पैसे जमा करने, टैक्स बचाने और अपने परिवार को सुरक्षित करने में काफी मदद मिल सकती है।

कुल मिलाकर, भगवान गणेश अपनी बुद्धि और धैर्य के लिए मशहूर हैं और अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के लिए आपको इन दोनों की जरूरत है। इसलिए, गणेश चतुर्थी के दिन उनका आशीर्वाद प्राप्त करें और प्रगति के पथ पर आगे बढ़ें।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments