अबु दुजाना की मौत पर फारूख अबदुल्ला खुश बोले- अब घाटी में शांति रहेगी

अबु दुजाना की मौत पर फारूख अबदुल्ला खुश बोले- अब घाटी में शांति रहेगी

By: Aryan Paul
August 01, 14:08
0
New Delhi:

हमेशा अपने विवादित बयानों के लिए मशहूर फारुख अबदुल्ला ने भी आतंकी दुजाना के मारे जाने पर खुशी जताई, कहा- सेना इसी तरह कार्रवाई जारी रखें । ये भी सच है कि ये ही फारुख अबदुल्ला हैं जिन्हें कैमरा इतना पसंद है कि ये कुछ भी बोलने को तैयार रहते हैं, अभी कुछ दिन पहले ही कश्मीर के निपटारे के लिए चीन-अमेरिका का सहयोग मांग रहे थे । हालांकि कश्मीर में पार्टी कोई भी हो सभी अलगाववादियों पर बोलने से कतराते हैं । 

नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारुख अबदुल्ला ने लश्कर- ए-तैयबा के चीफ कमांडर आतंकी अबु दुजाना के आज पुलवामा में मारे जाने पर खुशी जताई । और साथ ही आतंकी को मारने के लिए भारतीय सेना को भी बधाई दी । फारुख अबदुल्ला ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि भारतीय आर्मी इसी तरह आतंकियों को मारने का काम करती रहेगी, जब तक ये गद्दार, आतंकी नहीं मारे जाते, घाटी में शांति नहीं कायम रह सकती । जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए और राज्य में शांति-व्यवस्था के लिए आतंकियों का खात्मा होना जरूरी है ।

आतंकी अबु दुजाना के मारे जाने की खबर की पुष्टि होने के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कहा गया कि आतंकी अबु दुजाना और उसके पाकिस्तानी साथी का मारा जाना पुलिस बल और सुरक्षा बलों के लिए बड़ा अचीवमेंट है ।

हालांकि आपको बता दें कि हाफिज के करीबी सईद जट के इशारे पर काम करता था आतंकी दुजाना, दुजाना के शव के पास से बरामद मोबाइल से कई पाकिस्तानी आतंकियों और हाफिज के करीबियों का भी नंबर मिला है । आतंकी के बारे में कहा जा रहा है कि वो ना सिर्फ सेना और पुलिस बल्कि घाटी की लड़कियों और महिलाओं के लिए भी बड़ा खतरा था, पाकिस्तानी आतंकी दुजाना घाटी में अय्याशी करता था ।

हमेशा की तरह घाटी में आतंकी के मारे जाने पर कश्मीरी नौजवानों ने सेना पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे सेना के कई जवान भी घायल हो गए और जवाबी कार्रवाई में एक नागरिक की मौत और पांच लोग घायल हुए ।

दुजाना पर 15 लाख का इनाम भी घोषित किया गया है । आपको बता दें कि हाल ही में सेना ने 12 मोस्ट आतंकियों की लिस्ट जारी की थी और दुजाना उस लिस्ट में सबसे ऊपर था ।

2017 में सेना अब तक कुल 95 आतंकियों को मार चुकी है, जिनमें से कुछ खतरनाक आतंकी कमांडो भी थे, लेकिन दुजाना कई मौके पर सेना से बच निकला था ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।