गोरखपुर अस्पताल कांड: चौथा आरोपी चढ़ा STF के हत्थे, 5 आरोपी अभी भी फरार

गोरखपुर अस्पताल कांड: चौथा आरोपी चढ़ा STF के हत्थे, 5 आरोपी अभी भी फरार

By: Aryan Paul
September 09, 15:09
0
New Delhi:

पिछले महीने गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत ने देशभर को सोचने पर मजूबर कर दिया था, लिहाजा प्रशासन भी मामले में ढील नहीं छोड़ना चाहता और एक के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार किया जा रहा है। इस मामले में पुलिस ने शुक्रवार को चौथे आरोपी सुधीर को गिरफ्तार किया है । 

बता दें कि BRD मेडिकल कॉलेज में ही पिछले महीने 30 बच्चों समेत 60 से ज्यादा मरीजों की मौत हुई थी। मामले में आरोपी क्लर्क सुधीर पांडेय को शुक्रवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। इससे पहले तीन मुख्य आरोपियों को UP STF की टीम गिरफ्तार कर चुकी है। 

इस मामले में जांच कर रहे सीओ कैंट, STF और क्राइम ब्रांच लगातार आरोपियों की तलाश में जगह-जगह छापेमारी कर रही हैं। शुक्रवार की रात सीओ कैंट अभिषेक सिंह को सूचना मिली थी कि सीएमएस कार्यालय में कार्यरत रहा क्लर्क सुधीर पांडेय खजांची चौक के पास एक मित्र से मिलने पहुंचा है। इसके बाद सीओ की टीम ने घेराबंदी कर चौथे आरोपी क्लर्क सुधीर पांडेय को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दूसरी और डॉ. सतीश समेत चार अन्य आरोपियों की तलाश में STF और क्राइम ब्रांच छापेमारी कर रही है। 

मिली जानकारी के मुताबिक, सुधीर पर अवैध ढंग से पैसा कमाने की नीयत से प्रिंसिपल से सांठगांठ कर ऑक्सीजन कंपनी का पेमेंट रोकने का आरोप है। इसके साथ ही पूरे मामले में लापरवाही बरतने का भी आरोप हैं। इसी तरह के आरोप जूनियर सहायक लिपिक लेखा अनुभाग उदय प्रताप शर्मा, सहायक लिपिक संजय कुमार त्रिपाठी, चीफ फार्मासिस्ट गजानंद जायसवाल पर भी हैं, जिनकी तलाश में STF की टीमें जुटी हैं ।

बता दें कि इस पूरे में मामले में अभी तक पूर्व प्रिंसिपल राजीव मिश्र, प्रिंसिपल की पत्नी पूर्णिमा शुक्ला, डॉ. कफील खान और शुक्रवार को क्लर्क सुधीर पाण्डेय गिरफ्तार किए जा चुके हैं । कुल 9 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। साथ ही बता दें कि बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत के मामले में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में चार सदस्यीय टीम गठित की गई थी। उनकी रिपोर्ट के आधार पर कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल राजीव मिश्र, उनकी पत्‍‌नी और इंसेफलाइटिस वार्ड के इंचार्ज डॉ. कफील खान समेत 9 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments