नए मोबाइल मालवेयर वायरस को लेकर बैंकों ने जारी की चेतावनी, 232 बैंकिंग Apps निशाने पर

नए मोबाइल मालवेयर वायरस को लेकर बैंकों ने जारी की चेतावनी, 232 बैंकिंग Apps निशाने पर

By: Aryan Paul
January 11, 08:01
0
New Delhi: बैंकों की तरफ से अपने कस्टमर्स को मोबाइल बैंकिंग मालवेयर को लेकर चेतावनी जारी की गई है। हालांकि अभी कुछ बैंकों ने ही ये चेतावनी जारी की है। 

क्विक हील सिक्यॉरिटी लैब के मुताबिक, एक एंड्रॉयड बैंकिंग ट्रोजन की पहचान की गई है, जिसके निशाने पर 232 बैंकिंग ऐप हैं। इस मालवेयर की पहचान Android.banker.A2f8a के तौर पर हुई है। बता दें कि पहले यह Android.banker.A9480 के नाम से आया था । SISA इन्फॉर्मशन सिक्यॉरिटी के नितिन भट्नागर ने बताया कि इसका ऑपरेशन फिशिंग वेबसाइट के जैसा है। 

mobile banking

उन्होंने बताया कि यह मालवेयर बैकग्राउंड में काम करता है, और फेक नोटिफिकेशन भेजता है, जो देखने में बैंकिंग ऐप्लिकेशन जैसे लगते हैं। जब यूजर इस ऐप्लिकेशन को खोलता है तो उसे फेक लॉगइन स्क्रीन पर ले जाता है, जिसके बाद यूजर का गोपनीय डेटा चुरा लेता है। यह मालवेयर बैंक द्वारा भेजे गए एसएमएस और ओटीपी भी पढ़ सकता है। 

idbi

IDBI बैंक ने अपने कस्टमर्स को जारी एक निर्देश में अपनी मोबाइल बैंकिंग को ज्यादा सुरक्षित ढंग से खोलने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा कस्टमर्स से ऐप डाउनलोड में सावधानी बरतने को कहा गया है। बैंकों ने बैंकिंग ट्रांजेक्शंस के लिए जेलब्रोकन और रूटेड मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है। 

अभी-अभी:सेना दिवस से पहले बड़ा हादसा,परेड की रिहर्सल कर रहे जवान ध्रुव हेलिकॉप्टर से नीचे गिरे

bank

बता दें कि जेल ब्रोकन आईफोन वे हैंडसेट हैं, जो ऐप्स को अधिकारिक ऐप स्टोर का हिस्सा नहीं होने की अनुमति देते हैं। वहीं रूटेड मोबाइल यही काम एंड्रॉयड ऐप के लिए करता है। भट्नागर ने बताया कि मोबाइल ऐप्लिकेशंस में गड़बड़ी से बचने का कोई निश्चित तरीका नहीं है, लेकिन सोर्स कोडिंग के लिए बेस्ट प्रेक्टिस मौजूद हैं। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।