कोर्ट ने किया बरी लेकिन फिर भी रुकी तलवार दंपत्ती की रिहाई, जेल नहीं पहुंची फैसले की कॉपी

कोर्ट ने किया बरी लेकिन फिर भी रुकी तलवार दंपत्ती की रिहाई, जेल नहीं पहुंची फैसले की कॉपी

By: Madhu Sagar
October 13, 14:10
0
New Delhi:

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को आरुषि-हेमराज मर्डर केस में  माता-पिता राजेश और नूपुर तलवार को बरी कर दिया है। इससे पहले ट्रायल कोर्ट ने उन्हें उम्रकैद की सजा दी थी। पुख्ता सबूत नहीं होने के कारण दोनों को रिहा कर दिया गया। लेकिन अब उनकी रिहाई में अटकलें आ रही है, क्योंकि अभी तक जेल को फैसले की कॉपी नहीं मिली है।

गौरतलब है कि जब तक फैसले की कॉपी नहीं मिलेगी तब तक रिहाई नहीं हो सकती है। गौरतलब है कि शनिवार, रविवार छुट्टी होने के कारण सोमवार को ही रिहाई हो पाएगी।

हाईकोर्ट ने ट्रायल कोर्ट के फैसले पर सख्त टिप्पणी की और सबूतों के अभाव में तलवार दंपत्ति को बरी कर दिया। डासना जेल के जेल सुप्रिडेंडेट दधिराम ने बताया कि अभी तक उनके पास कोर्ट ऑर्डर की कॉपी नहीं पहुंची है। जब ऑर्डर की कॉपी मिलेगी वह तभी आगे की कार्रवाई करेंगे।

फैसला आने के बाद तलवार दंपत्ति काफी खुश नज़र आए। गुरुवार रात को दोनों ने पूड़ी-सब्जी खाई। और शुक्रवार सुबह चाय-दलिया का नाश्ता किया। दोनों रात को सो नहीं पाए, बस टहलते रहे। जेल स्टाफ का कहना है कि तलवार दंपति फैसले के बाद काफी खुश नज़र आ रहे थे। यहां तक कि जेल के कैदी भी खुश हैं।

 फैसला सुनाते हुए हाईकोर्ट ने सीबीआई की जांच में कई खामियों का जिक्र किया और कहा कि कई सबूतों का ना तो पड़ताल की गई और ना ही साक्ष्यों को वेरिफाई करने की कोशिश की गई और एक एंगल पर काम कर सीधे दोषी मान लिया गया। हाईकोर्ट ने विशेष सीबीआई ट्रायल कोर्ट के जजों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि ऐसा लगता है जैसे फिल्म डायरेक्टर के रूप में काम कर रहे हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।