नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से डरा जापान, जापानी बोले- इस सनकी से हमें कौन बचाएगा ?

नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से डरा जापान, जापानी बोले- इस सनकी से हमें कौन बचाएगा ?

By: Aryan Paul
August 08, 11:08
0
New Delhi:

नॉर्थ कोरिया लगातार UN और अमेरिका के मना करने के बाद भी बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण कर रहा है । पूरी दुनिया को डर है कि नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की सनक कभी भी दुनिया के एक बड़े हिस्से को तबाह कर सकती है । नॉर्थ कोरिया के निशाने पर पहले नबंर पर जापान ही है, इसी डर से जापान ने बचने के लिए हाल ही में मिसाइल ड्रिल का अभ्यास किया ।

 

जापान ने किसी भी मिसाइल हमले की स्थिति से बचने के लिए पहला मिसाइल ड्रिल किया है । आपको बता दें कि नॉर्थ कोरिया द्वारा लगातार मिसाइल परीक्षण किए जाने की वजह से जापान की परेशानी बढ़ी हुई है। हाल ही में नॉर्थ कोरिया ने चार बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया, जो जापान के उत्तर पश्चिमी सीमा से सटे समुद्री इलाके में गिरे, इनमें से एक रॉकेट तो जापान के ओगा कस्बे से महज 200 किमी की दूरी पर गिरा । 

 

इसमें जापानी द्वीपों पर नॉर्थ कोरिया द्वारा मिसाइल हमले की स्थिति की कल्पना करते हुए तैयारियों का जायजा लिया गया। इस दौरान स्पीकर और सायरन बजते रहे। जहां यह ड्रिल हुआ, वो जगह राजधानी टोक्यो से 450 किमी दूर है। ओगा एक ग्रामीण इलाका है, जहां अधिकतर लोगों के जीवन-यापन का साधन मछली पकड़ना है। 

 

स्पीकर पर मिसाइल हमले का एलान होते ही स्थानीय लोग पहले से तय जगह की ओर भागे। यहां पहले से ही इमर्जेंसी किट और हिफाजत से जुड़ी अन्य चीजें मौजूद थीं। वहीं, कस्बे के एक दूसरे हिस्से में मिसाइल हमले का ऐलान होते ही बच्चे जमीन पर बैठ गए। ड्रिल में हिस्सा लेने वाले 73 साल के हिडियो मोटोकावा ने कहा, 'मैंने टीवी पर दूसरे देशों के बीच मिसाइल छोड़े जाते देखा है, लेकिन कभी इस बात की कल्पना नहीं की कि ऐसा हमारे साथ भी हो सकता है।

अधिकारियों ने कहा कि यह अभ्यास क्षेत्रीय सुरक्षा से जुड़े हालात में हाल के वक्त में आए बदलावों के मद्देनजर किया गया है। एक सिक्योरिटी एडवाइजर ने कहा- आजकल कुछ भी हो सकता है, ऐसे में हालात की सच्चाई जानना जरूरी है। जब हम अपने पड़ोसी मुल्कों के रवैये को भांपने की स्थिति में नहीं हैं। बता दें कि यूएन सिक्योरिटी काउंसिल के प्रतिबंधों के बावजूद नॉर्थ कोरिया न्यूक्लियर क्षमता वाले मिसाइलों के विकास में लगा हुआ है। नॉर्थ कोरिया ने परमाणु परीक्षण भी किए हैं। अमेरिका और उसके सहयोगी पश्चिमी मुल्कों ने नॉर्थ कोरिया की गतिविधियों को पूरी दुनिया के लिए खतरा माना है।

जापान के चीफ कैबिनेट सेक्रटरी योशिहिदे सुगा ने कहा कि मिसाइल ड्रिल का मकसद लोगों के बीच जागरूकता लाना है। वहीं, ओगा के बाशिंदों ने इस बात पर चिंता जताई कि असली हमले की स्थिति में वे किस तरह कदम उठाएंगे? ड्रिल में शामिल 73 साल की एमिको शिनजोया ने कहा, 'यह बेहद डरावना है। अगर ऐसा असल में हुआ तो हमें नहीं लगता कि हम वो कर पाएंगे जिसकी प्रैक्टिस आज हमने की, उस हालात में वे लोग बुरी तरह घबरा जाएंगे। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments