EXPORT इंडस्ट्री में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए 8, 450 करोड़ का होगा निवेश

EXPORT इंडस्ट्री में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए 8, 450 करोड़ का होगा निवेश

By: Aryan Paul
December 06, 09:12
0
New Delhi:  EXPORT को बढ़ावा देने और JOBS क्रिएट करने के लिए सुरेश प्रभु ने 8450 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा की है। यह कदम 5 सालों की FTP में उठाया गया। बता दें कि इस पॉलिसी को 2015 में लागू किया गया था।

मर्चेंडाइज एक्सपोर्ट फ्रॉम इंडिया स्कीम के मुताबिक, इंसेंटिव्स को लेदर, टेक्सटाइल्स, ऐग्रीकल्चर प्रॉडक्ट्स और कार्पेट्स के लिए 2 से बढ़ाकर 4 पर्सेंट कर दिया गया है।

समीक्षा बैठक

जानकारी के मुताबिक, एक्सपोर्टर्स को पूंजी फंसने की समस्या से बचाने के लिए सरकार ने 1 अप्रैल 2018 से ई-वॉलिट शुरू करने की भी योजना बनाई है। GST पर एक्सपोर्टर्स की मदद करने के लिए एक्सपर्ट्स की एक टीम भी बनाई जाएगी। 

सुरेश प्रभु

जानकारी के मुताबिक, केंद्र ने एक्सपोर्ट्स अगेंस्ट सेल्फ सर्टिफिकेशन के लिए ड्यूटी फ्री इंपोर्ट्स की इजाजत दी है और ड्यूटी क्रेडिट स्क्रिप्स की वैलिडिटी बढ़ाकर 24 महीने कर दी है। स्क्रिप्स एक तरह से इंसेंटिव्स हैं, जिनका उपयोग एक्सपोर्टर कस्टम्स ड्यूटी चुकाने में करते हैं। सुरेश प्रभू का कहना है कि निर्यात आर्थिक नीति का अहम हिस्सा है और यह विदेश नीति का भी हिस्सा होना चाहिए। 

export

बता दें कि 15 महीनों बाद पहली बार अक्टूबर में एक्सपोर्ट कम हुआ था। तब एक्सपोर्ट्स 1.1 पर्सेंट की कमी के साथ 23.1 5अरब डॉलर पर आ गया था। एक्सपोर्टर्स ने कहा है कि नवंबर में निर्यात में और गिरावट आ सकती है। इसके लिए जीएसटी को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। पिछले महीने व्यापार घाटा तीन वर्षों में सबसे ज्यादा बढ़कर 14 अरब डॉलर पर पहुंच गया था। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।