Bitcoin: छोटे फायदों में छिपा है बड़ा नुकसान, RBI नहीं करता सर्टिफाइड, सोच-समझकर करें इस्तेमाल

Bitcoin: छोटे फायदों में छिपा है बड़ा नुकसान, RBI नहीं करता सर्टिफाइड, सोच-समझकर करें इस्तेमाल

By: Aryan Paul
December 06, 11:12
0
New Delhi: Bitcoin जहां उछाल के साथ मार्केट में investors को लुभा रही है। वहीं RBI ने लोगों को इससे सतर्क रहने की सलाह दी है। वर्चुअल करंसी के जोखिम को लेकर सरकार भी आदेश जारी कर चुकी है।

मामले में RBI का कहना है कि वर्चुअल करंसी की वैल्यू में आई बड़ी उछाल और ICO की वृद्धि के कारण चिंता और भी बढ़ गई है। साथ ही बता दें कि बिटकॉइन को किसी भी देश की सरकार या कोई बैंक कंट्रोल नहीं कर सकता। बिट्काइन में पिछले एक हफ्ते में भारी उछाल आई है, जिसके बाद यह 11,000 डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। 

बिट्कॉइन

रिजर्व बैंक ने बिट्काइन को लेकर 2013 में ही कहा था कि वर्चुअल करंसी का पूंजी के रूप में कोई आधार नहीं है। इसकी वैल्यू अटकलों के आधार पर निर्धारित की जाती है। पिछले कुछ समय में वर्चुअल करंसी की वैल्यू में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला है। इसलिए बैंक इसके निवेशकों को संभावित भारी नुकसान के बारे में चेतावनी जारी कर रहा है। 

बिट्कॉइन

2013 से ही रिजर्व बैंक बार-बार यह कहता आया है कि वर्चुअल करंसी में निवेशकों के लिए संभावित फाइनेंशल, कानूनी और सुरक्षा संबंधी रिस्क हैं। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि वह पिछले काफी समय से इस सेक्टर पर स्टडी कर रहा है लेकिन उसने स्पष्ट किया है कि वर्चुअल करंसी वर्तमान व्यवस्था के अनुरूप नहीं हैं। 

बिट्कॉइन

PAYTM खोलेगा देश भर में एक लाख ATM, तीन साल में 3 हजार करोड़ का होगा निवेश

रिजर्व बैंक ने कहा था कि पेमेंट के लिए बिटकॉइन समेत किसी भी वर्चुअल करंसी का निर्माण, लेनदेन और इस्तेमाल किसी भी केंद्रीय बैंक या मौद्रिक निकाय द्वारा सर्टिफाइड नहीं हैं। वर्चुअल करंसी के लिए इलेक्ट्रॉनिक वॉलेट्स का इस्तेमाल किया जाता है, जिन्हें आसानी से हैक किया जा सकता है या निवेशक के पासवर्ड को चोरी कर इसमें धोखाधड़ी की जा सकती है। 

बिट्कॉइन

चीन को टक्कर देंगे बाबा रामदेव, पतंजलि पावर बनाएगी सौलर उपकरण, सौलर एनर्जी को मिलेगा बढ़ावा

रिजर्व बैंक ने यह भी कहा है कि जिन प्लेटफॉर्म पर बिटकॉइन या अन्य किसी वर्चुअल करंसी का लेन-देन किया जा रहा है, उनके कानूनी प्रावधान स्पष्ट नहीं हैं। बता दें कि इसी साल सितंबर में ऐसी रिपोर्ट्स आईं थीं कि वित्त मंत्रालय लक्ष्मी नाम से वर्चुअल करंसी लाने पर विचार कर रहा है और इसके लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।