PAK  न्यूज एंकर ने की भारत की तारीफ,कहा-'भारत ने जिस तरह हमारा सपोर्ट किया वो काबिल-ए-तारीफ है'

PAK न्यूज एंकर ने की भारत की तारीफ,कहा-'भारत ने जिस तरह हमारा सपोर्ट किया वो काबिल-ए-तारीफ है'

By: Madhu Sagar
January 13, 12:01
0
New Delhi: पाकिस्तान में 6 साल की बच्ची से रेप के बाद हत्या की घटना हुई थी। इस घटना के बाद पूरा देश गुस्से में है। सड़के से लेकर सोशल मीडिया तक लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। 

कसूर की रहने वाली ज़ैनब अंसारी से हुई ज़्यादती के बाद पाकिस्तान के कई शहरों में विरोध-प्रदर्शन हुए। कुछ जगह हालात इतने बिगड़े कि पुलिस को गोलीबारी करनी पड़ी। इस बीच एक निजी समाचार चैनल की एंकर ने इस खबर को अलग तरीके से पेश किया। समा ​टीवी की एक एंकर किरन नाज़ गुरुवार को एक बुलेटिन में अपनी बच्ची को लेकर आईं और उसे गोद में बैठाकर ज़ैनब की ख़बर दी।

पढे़ - राखी सावंत ने फोटो पर डाला ऐसा कैप्शन,मजाक उड़ाते नहीं थके लोग 

बुलेटिन की शुरुआत करते हुए उन्होंने कहा, ''आज में किरन नाज़ नहीं हूं बल्कि एक मां हूं और इसलिए आज मैं अपनी बच्ची के साथ बैठी हूं। जनाज़ा जितना छोटा होता है उतना ही भारी होता है और पूरा समाज उसके बोझ तले दब जाता है।''

पढे़ - INDVSSA: कोहली ब्रिगेड पर सीरीज बचाने का चैलेंज, वापसी के लिए आज कांटे की टक्कर

जब बीबीसी हिन्दी ने उनसे ऐसा करने की वजह पूछी तो उन्होंने कहा, ''मेरे लिए खुद को कंट्रोल करना बहुत ज़्यादा मुश्किल था, मैं रात भर सो नहीं सकी और सोचती रही। मैं जब अपनी बेटी की तरफ चेहरा करती थी तो मुझे अपनी बेटी की आंखों में ज़ैनब का चेहरा नज़र आ रहा था।''


इसके साथ किरन ने कहा, ''मैं अगले दिन जब ऑफिस गई और मैंने वो शो किया, तो उस दिन ज़ैनब की मां उसका उमरा (मक्का की यात्रा) करके लौट रही थीं। उनकी हालत देख मुझे कुछ समय के लिए ऐसा लगा कि खुदा-न-खास्ता अगर यह सब मेरे सामने हुआ होता तो मैं क्या करती। ये (ज़ैनब की मां) तो फिर भी चल पा रही हैं बात कर पा रही हैं मैं तो शायद कुछ भी न कर पाती।''

लेकिन फिर भी बेटी को साथ बैठाकर ख़बरें पढ़ने की क्या वजह हो सकती है, उन्होंने कहा, ''मैंने उस दर्द को महसूस किया और इसलिए मैं अपनी बेटी को लेकर आई। मैं यह बताना चाहती थी कि मेरी बेटी मेरा फख़्र है। दुनिया में जिनकी भी बेटियां होती हैं, वो उनका गुरूर होती हैं।''

पढ़े- अभी-अभी: CJI आवास पहुंचे PM मोदी के प्रधान सचिव, चीफ जस्टिस से मिले बगैर वापस लौटे

उन्होंने गुस्से का इज़हार करते हुए कहा, ''आप हमारे गुरूर के साथ रेप करेंगे, उन्हें कचरे में फेकेंगे? हम जंगल में नहीं रहते, हम इंसान हैं और ये हमारे बच्चे हैं। इसलिए मैं अपने फख्र के साथ बैठी थी जिससे ज़ैनब के लिए आवाज़ उठा सकूं।''


उन्हें ऐसा करके क्या मिला,इसके जवाब में किरन ने कहा, ''मुझे अब ऐसा लगता है कि शायद मैं थोड़ी बहुत कामयाब हुई हूं, आप लोग मुझसे बात कर रहे हैं। हमें यह मशविरा दे दिया जाता है कि आप अपने बच्चों को गुड टच या बैड टच के बारे में सिखाएं। मेरी बेटी 6 महीने की है उसे मैं इस बारे में कैसे बताऊं?''

उन्होंने कहा, ''लोगों के पास इतना दिल नहीं है कि वो रोज़ ऐसे वाकये देखते रहें। रोज़ाना अपने छोटे-छोटे बच्चों को उठाएं और कब्रों में दफ्न करें। और बस यह सोचकर रह जाएं कि शायद वह ज़ालिम इंसान पकड़ा जाएगा। अब पानी सिर से ऊपर जा चुका है इसलिए पूरे पाकिस्तान के लोग बाहर निकल आए हैं।''

पढ़े- चाइल्ड आर्टिस्ट बनकर बॉलीवुड में मचाया था खूब धमाल, बड़े होते ही हो गए फ्लॉप

इस मामले को लेकर भारत में जैसी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है, उससे पाकिस्तानी एंकर काफ़ी खुश हैं। उन्होंने कहा, ''मुझे दिल से खुशी हो रही है जिस तरह भारत इस मामले को उठा रहा है और मीडिया इसे सपोर्ट कर रहा है। मैं चाहती हूं कि चाहे यह यहां हो या फिर सरहद के उस पार हो, बस अब ख़त्म होना चाहिए।''

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।