अब पुतले को लगाओ गले : फिल्म शूटिंग में गले लगाने की इजाजत नहीं, प्यार जताने के खोजो बहाने नये

New Delhi : 10 जून से पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्यों में टीवी व फिल्मों की शूटिंग के लिए हामी भर दी है। लेकिन कोरोना संक्रमण से बचने के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई। ऐसे में अब बंगाल एंटरटेमेंट इंडस्ट्री से खबरे आ रही हैं कि इंटीमेट सीन के लिए नये जुगाड़ व तरकीब लगाई जा रही हैं। 87 दिनों के बाद शूटिंग करने जा रहे लेखक और डायरेक्टर लीना गंगोपाध्याय ने गुरुवार से शूटिंग शुरू की।
उन्होंने बताया – ‘श्रीमोय’ एपिसोड के डायलॉग इस हिसाब से लिखे गये जिससे कि स्टार्स के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सके। इसका मतलब ये कि अब टीवी सीरियल व फिल्मों की स्क्रिप्ट में भी बदलाव किए जाने लगे हैं, ज्यादा से ज्यादा सीन को इस तरीके से लिखे जा रहा है जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सकता है।

पश्चिम बंगाल के मंत्री अरुप बिस्वास ने बीते रविवार बताया था कि अब सेट पर 35 लोग से ज्यादा लोग नहीं हो सकेंगे। जब कलाकार सेट पर एंट्री करेंगे तो थर्मल स्क्रिनिंग जैसे तमाम उपाय किये जायेंगे। बंगाल इंडस्ट्री से जुड़े एक कलाकार ने मीडिया को बताया कि सेट पर मास्क से लेकर सेनिटाइजर की पूरी व्यवस्था है। जो लोग कैमरे से बाहर है वो मास्क नहीं उतारेंगे। उन्होंने कहा – वह प्रोडक्शन के पिक-अप और ड्रॉप के बजाय खुद की गाड़ी से आना जाना करेंगे। इससे कोविड19 के खतरे से बचा जा सकता है।
“फिरकी” जैसे शो के प्रोड्यूसर सानी घोष राय का कहना है कि अगर किसी शॉट व सीन में दो कलाकारों के बीच नजदीकी दिखाए जानी जरूर है तो वह पुतले यानी डमी का प्रयोग कर सकते हैं। जब गले लगाने का सीन हो तो ऐसे में डमी का इस्तेमाल कर हम सीन को बेहतर दिखा सकेंगे और कोविड19 से भी बचा जा सकता है।
बंगाल में शूटिंग शुरू होने के साथ ये खास ध्यान रखा जा रहा है कि दो एक्टर के बीच करीब 6 फीट का गैप हो। प्रोडक्शन व तकनीकी क्षेत्र से जुड़े सभी कलकारों के लिए पीपीई किट्स पहननी अनिवार्य होगी। साथ ही सभी लोगों को अपना खाना घर से लाना होगा और कप जैसी जरूरी बर्तन के लिए डिस्पोसल का इस्तेमाल किया जएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ninety − eighty one =