मरकज को खाली करते लोग

निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमाती अस्पताल में न’ग्न घूमने लगे, नर्सों को किये इशारे, अ’श्ली’ल गाने सुन रहे

New Delhi : ऐसे समय में जब पूरा देश कोरोना आपदा से परेशान है। लॉकडाउन का पालन कर कोरोना को हराने की जंग में पूरी ताकत से लगा है। एक विचित्र मामला देश और सरकार के सामने काल बनकर आ गया है। ये काल है निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में शामिल लोग, जिन्हे मरकज से निकाल कर दिल्ली और आसपास की जगहों पर क्वारैंटाइन किया गया था।
पहले तो इनके एक ग्रुप ने बुधवार को तुगलकाबाद के रेलवे के क्वारैंटाइन सेंटर पर हंगामा किया। स्वास्थ्य कर्मियों और रेलवे के स्टाफ से मारपीट करने की कोशिश की। उन पर थूका। कैंपस में थूका। हंगामा इतना बढ़ा कि उत्तर रेलवे के चीफ पीआरओ ने tweet कर सरकार से मदद मांगी। पुलिस का सख्त पहरा वहां लगाया गया।


आज गुरुवार को लोक नायक जय प्रकाश हॉस्पिटल और गाजियाबाद के एमएमजी हॉस्पिटल में तबलीगी जमात के लोगों ने इतना हंगामा किया कि प्रशासन ने भी अपना सर ठोंक लिया। गाजियाबाद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आज इस संदर्भ में लोकल पुलिस से लिखित शिकायत की। शिकायत में लिखा है – निजामुद्दीन मरकज से क्वारैंटाइन के लिये लाये गये जमातियों ने आज गाजियाबाद के अस्पताल में उत्पात मचा दिया। जमाती न;ग्न होकर नर्सेां के सामने घूमने लगे। वे सिगरेट की डिमांड करने लगे। यही नहीं जब कर्मचारियों ने उन्हें टोका तो सब पर थू’क’ने लगे। यही नहीं अस्पताल की नर्सों को वे गंदे इशारे करने लगे। फब्तियां कसने लगें। पत्र में लिखा है – अस्पताल की नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों ने इन रोगियों के खिलाफ शिकायत की है। तबलीगी जमात के सदस्य, जो अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रहते थे, अपने वार्ड में अपने पैंट के साथ न”ग्न होकर घूम रहे थे। सभी लोग अ’श्ली’ल गाने भी सुन रहे थे। सीएमओ गाजियाबाद ने स्थानीय पुलिस से मामले में हस्तक्षेप करने और रोगियों द्वारा इस तरह के व्यवहार को नियंत्रित करने के लिए उचित कार्रवाई करने का आग्रह किया। गाजियाबाद डीएम ने सीएमओ गाजियाबाद को पुलिस को पत्र लिखने के बाद जांच का आदेश दिया है।
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकाले गई जमातियों पर लगातार बदसलूकी के आरोप लग रहे हैं। दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश नारायण हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. जेसी पासे ने बताया है कि तब्लीगी जमात में शामिल 188 लोग उनके यहां भर्ती हैं। इनमें से 24 की रिपार्ट आई है। 23 को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कई जमाती टेस्ट कराने से मना कर रहे हैं। उनसे स्टाफ को खतरा था। ऐसे में जिन तीन ब्लॉक में जमातियों को रखा गया है, वहां पुलिस तैनात कर दी गई है। कल तुगलकाबाद में रेलवे के कैंपस में बने क्वारैंटाइन में इन जमातियों ने तमाशा किया था। वहां के स्टाफ डाक्टर पर थू”का था। कैंपस को गंदा किया था।

इधर कोरोनावायरस संक्रमण के गुरुवार को 236 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों की संख्या 2 हजार 295 हो गई है। अभी तक 176 लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 66 लोगों की जान चली गई। ये आंकड़े covid19india.org वेबसाइट के अनुसार हैं। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, दोपहर 4 बजे तक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 हजार 967 है। इनमें से 1 हजार 764 का इलाज चल रहा है। 150 ठीक हो चुके हैं। 50 लोगों की जान गई है। सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में 30 सरकारी अस्पतालों को कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया गया है। इसके बाद संक्रमितों के इलाज के लिए 2305 बिस्तरों की क्षमता उपलब्ध हो गई है। इनमें 400 लोग वो हैं जो निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात में शामिल हुए थे।
इधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के ऑटो, टैक्सी और रिक्शा चालकों के लिए 5 हजार रुपये की मदद का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ऑटो, टैक्सी वालों के फोन आ रहे हैं कि वो भी भुखमरी के कगार पर हैं। ऑटो, आरटीवी, टैक्सी, ई रिक्शा चलाने वालों के लिए सरकार प्लानिंग कर रही है। आपके बैंक अकाउंट हमारे पास नहीं। सबके एकाउंट में मदद के लिए 5-5 हज़ार रुपए डाले जाएंगे। इसमें हफ्ता 10 दिन लग सकते हैं। थोड़ा सब्र रखना। उन्होंने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की भी अपील की।

गुरुवार को कोरोना ने अरुणाचल प्रदेश में भी दस्तक दे दी। यहां संक्रमण का पहला सामने आया। अब देश के 26 राज्यों और चार केंद्र शासित प्रदेशों में संक्रमण फैल चुका है। गुरुवार को जहां 236 मामले मिल चुके हैं, वहीं मंगलवार से बुधवार तक 24 घंटे में रिकॉर्ड 437 नए केस सामने आए थे। इस बीच, डीआरडीओ कोरोना संक्रमितों के उपचार में जुटे मेडिकल स्टाफ के लिए हर दिन 7 हजार प्रोटेक्शन सूट बना रहा है। जल्द ही यह क्षमता बढ़ाकर प्रतिदिन 15 हजार सूट कर दी जाएगी।
महाराष्ट्र; कुल संक्रमित- 339: गुरुवार को संक्रमण के 4 नए मामले सामने आए हैं। इनमें से 2 मरीज पुणे में, 1 मुंबई और 1 बुलढाणा में मिला है। बुधवार को एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी मे मिले संक्रमित की इलाज के दौरान जान चली गई। परिवार के सात सदस्यों को होम क्वारैंटाइन किया गया है। उधर, पुणे का स्टार्टअप एनओसीसीए प्राइवेट लिमिटेड कोरोनावायरस आपदा को देखते हुए कम लागत वाले वेंटिलेटर बना रहा है। स्टार्टअप के को-फाउंडर निखिल कुरेले का कहना है कि यह वेंटिलेटर 50 हजार रुपए में तैयार हो जाने का अनुमान है।

निजामुद्दीन मरकज से बाहर आते जमाती और इनसेट में इनका नेता मौलाना साद


मध्यप्रदेश के इंदौर में बुधवार देर रात 12 और मरीजों की कोरोनावायरस संक्रमण की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके साथ ही शहर में संक्रमितों की संख्या 75 हो गई। इंदौर के टाटपटटी बाखल इलाके में बुधवार को संक्रमण संदिग्धों की स्क्रीनिंग करने पहुंचे कुछ स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं पर लोगों ने पथराव कर दिया। इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − = ten