नवाज शरीफ की सीट से चुनाव लड़ रहा लश्कर आतंकी याकूब शेख, अमेरिका बता चुका है ग्लोबल टेररिस्ट

नवाज शरीफ की सीट से चुनाव लड़ रहा लश्कर आतंकी याकूब शेख, अमेरिका बता चुका है ग्लोबल टेररिस्ट

By: Rohit Solanki
September 11, 21:09
0
....

Lahore: पनामागेट घोटाले में फंसने के बाद नवाज शरीफ को पाकिस्तान के पीएम की कुर्सी गंवानी पड़ी। PAK सुप्रीम कोर्ट ने जब नवाज शरीफ की सदस्यता खत्म की, उसी समय से सवाल उठने लगा कि उनकी जिम्मेदारी अब कौन संभालेगा। कभी उनके भाई शाहबाज शरीफ तो कभी बेटी मरियम का नाम उठने लगा। लेकिन ये खबर आपको चौंका सकती है। 

नवाज शरीफ द्वारा इस्तीफा देने के बाद खाली हुई इस सीट पर एक ऐसे शख्स को उतारा गया है, जो दुनिया में आतंक का नापाक चेहरा है। जी हां, शरीफ के इस्तीफे से खाली पड़ी NA-120 सीट पर आतंकी मोहम्मद याकूब शेख को चुनाव में उतारा गया है। ये वो ही मोहम्मद याकूब शेख है जिसे अमेरिका ने दुनिया के टॉप आतंकवादियों की लिस्ट में शामिल किया है।

पाकिस्तान के जिहादी और इस्लामिक कट्टरपंथियों के घालमेल से बने संगठन दिफा-ए-पाकिस्तान काउंसिल का चेयरमैन मोहम्मद याकूब शेख अब नेतागिरी करने मैदान में उतर गया है। याकूब को चुनाव में उतारने के बाद दिफा-ए-पाकिस्तान ने लोगों से याकूब को वोट देकर जिताने की अपील की है और कहा है कि देशभक्ति की मिसाल याकूब यहां की जनता के लिए काम करेगा। इस इलेक्शन के लिए 17 September को वोटिंग होने वाली है।

 अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने साल 2012 में याकूब को दुनिया के टॉप आतंकियों की लिस्ट में शामिल किया था। इससे पहले भी याकूब मुंबई हमले के गुनाहगार हाफिज सईद के संगठन जमात उल दावा की पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग के तहत चुनाव में उतर चुका है। हाफिज सईद के खास लोगों में शामिल याकूब जमात-उल-दावा में भी संचार और विदेश संबंधों से जुड़े मामलों की देखरेख करता है।

पिछले कुछ सालों में जमात और दिफा-ए-पाकिस्तान के लिए पैसा जुटाने वाला ये आतंकी कई बार दुबई की यात्रा कर चुका है। 2006 से 2009 के बीच याकूब लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठन की सेंट्रल एडवाइजरी कमेटी का सदस्य भी रहा है। इस दौरान उसने लश्कर के लिए विदेश और राजनीतिक मामलों के उप विदेश निदेशक की जिम्मेदारी भी निभाई है। साल 2008 में याकूब लश्कर के इस्लामाबाद ऑफिस का इंचार्ज था और पाकिस्तानी राजधानी के इर्द-गिर्द का सारा इलाका उसके इशारों पर चलता था। लश्कर के लिए काफी पैसा जुटा चला याकूब इसके अलावा भी कई दूसरे आतंकी संगठनों की मदद कर चुका है। साल 2010 में लश्कर की उलेमा काउंसिल का उसे मुखिया भी बनाया गया था। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।