पाक सेना का दावा, तालिबान के कब्जे से अमेरिकी परिवार को आजाद करवाया, अमेरिका ने दी थी जानकारी

पाक सेना का दावा, तालिबान के कब्जे से अमेरिकी परिवार को आजाद करवाया, अमेरिका ने दी थी जानकारी

By: Aryan Paul
October 13, 11:10
0
New Delhi:

पाकिस्तानी सेना का कहना है कि उसने एक अमेरिका परिवार को तालिबान की कैद से आजाद कराया है। जिनका अफगानिस्तान में 2012 में अपहरण कर लिया गया था। और कैद में ही उनके तीन बच्चे भी पैदा हुए हैं। पाक सेना का कहना है कि अमेरिका से इनके अपहरण को लेकर जानकारी मिली थी ।

जानकारी के मुताबिक, पाक सेना ने कनाडा के जोशुआ बोयल और उनकी अमेरिकी पत्नी कैटलन कोलमैन को अफगान सीमा के पास से आजाद कराया। जहां तालिबान ने 2012 में अपहरण करने के बाद उनको रखा हुआ था । कैद में ही उनके तीन बच्चे भी हुए हैं। व्हाइट हाउस ने हवाले से बताया गया कि कैद में कोलमैन ने अपने तीन बच्चों को जन्म दिया था आज वो सब आज़ाद हैं। उन्होंने कहा कि पाक सेना का सहयोग इस बात का संकेत देता है कि वो इलाके की सुरक्षा के लिए अमेरिका के काम करने के तरीके को पसंद करते हैं। अमेरिकी इच्छा का सम्मान भी करते हैं। 

पाकिस्तानी सेना का कहना है कि अमरीकी खुफिया एजेंसियां इस परिवार को अफ़गानिस्तान में ढूंढ रही थी। यह सूचना मिली थी कि 11 अक्टूबर को इस परिवार को सीमा पार करा कर पाकिस्तान के आदिवासी बहुल ज़िले कुर्रम ले जाया गया था। इस्लामाबाद में अमरीकी दूतावास के प्रवक्ता ने बताया कि हम लोग मीडिया रिपोर्ट का स्वागत करते हैं जिसमें कहा गया है कि एक परिवार को रिहा किया गया है जिसमें अमेरिका के लोग शामिल हैं।

बता दें कि हक्कानी नेटवर्क ने कैद के दौरान कपल का एक वीडियो जारी किया था। जिसके बदले वे अफ़गानिस्तान में अपने तीन कैदियों की रिहाई की मांग कर रहे थे। बीते दिसंबर में जारी किए गए वीडियो में कपल को दो बेटों के साथ दिखाया गया था। इस वीडियो में कोलमैन कैद को बुरा सपना बताते हुए इसे खत्म करने की अपील कर रही थी। जब उनका और उनके पति का अपहरण किया गया था तब वो गर्भवती थीं।

पाकिस्तान का कहना है कि जोशुआ बोयल के परिवार को छुड़ाने के लिए किया गया सफल ऑपरेशन यह दर्शाता है कि उनका अमरीका के साथ मजबूत संबंध है। सेना के बयान में कहा गया है कि यह सफलता समय पर खुफ़िया सूचना दिए जाने के कारण ही मिल पायी । 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।