रूस के सबसे बैंक ने भारत में किया है बड़ा निवेश, टाटा को दिया है 40 करोड़ डॉलर का लोन

रूस के सबसे बैंक ने भारत में किया है बड़ा निवेश, टाटा को दिया है 40 करोड़ डॉलर का लोन

By: Aryan Paul
November 13, 10:11
0
New Delhi: RUSSIA का सबसे बड़ा बैंक Sberbank देश में पिछले चार सालों से बिजनेस कर रहा है। EUROPE में TATA की कंपनी को 40 करोड़ डॉलर का लोन दिया है। हालांकि भारत में रूसी कंपनियों को ही LOAN दे रहा है।

जानकारी के मुताबिक, भले ही रूस का सबसे बड़ा बैंक स्बरबैंक देश में पिछले चार सालों से कारोबार कर रहा है, लेकिन उसे ज्यादा सफलता नहीं मिली। पिछले साल से बैंक भारतीय कंपनियों की बजाय रूसी कंपनियों को लोन दे रहा है। हालांकि उसने पूर्वी यूरोप में टाटा पावर की एक परियोजना को करीब 40 करोड़ डॉलर का ऋण दिया है। वहां टाटा पावर ने साइबेरियन कोल एनर्जी कंपनी के साथ कोयला खनन के लिए साझेदारी पर हस्ताक्षर किए हैं। 

भारत में बैंक सोना इम्पोर्ट करने वालों को कर्ज मुहैया कराया रहा है, क्योंकि इसका बड़ा कारण भारत में इसका बड़ा बाजार होना है। निजी इक्विटी फंड के क्षेत्र में भी रूसी कंपनियां भारत सहित दुनिया भर में अपने पांव पसार रही हैं। बता दें कि सिस्तेमा ने एशिया फंड 5 करोड़ डॉलर से बढ़ाकर 12 करोड़ डॉलर कर दिया है। इस फंड में निवेश करने के लिए पहली बार भारतीय बिजनेसमैन से संपर्क किया जा रहा है। 


 

रोजानोव का कहना है कि वे अब भारत में बड़ा निवेश करेंग। वो सिर्फ जोखिम वाले वेंचर कैपिटल फंडिंग में ही पैसा नहीं लगाएंगे। बारी लियोनिद बोगुस्लावस्की की कंपनी आयू-नेट ने स्नैपडील और फ्रीचार्ज में निवेश किया है। भारत में FDI शुरू होने के बाद रूसी कंपनियां दिलचस्पी ले रही हैं। अनुमान के मुताबिक 2012-2016 के दौरान भारत के कुल हथियारों के आयात में रूस की हिस्सेदारी करीब 68 फीसदी रही है। 

लेकिन रूसी कंपनियां निजी क्षेत्र के साथ कारोबार करने में उतनी रुचि नहीं दिखा रही हैं। भारतीय कंपनी का अधिकारी का कहना है कि रूस की रक्षा क्षेत्र की कंपनियां सरकार और सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के साथ ही काम करना चाहती हैं, क्योंकि उन्हें प्राइवेट कंपनियों के साथ काम करने में भरोसा नहीं है। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।