ड्रोन उड़ाने पर जल्द बनेगा कानून, खतरा होने पर NSG और CISF कर सकेंगी नष्ट, जल्द मिलेगा अधिकार

ड्रोन उड़ाने पर जल्द बनेगा कानून, खतरा होने पर NSG और CISF कर सकेंगी नष्ट, जल्द मिलेगा अधिकार

By: Aryan Paul
September 10, 13:09
0
New Delhi:

पिछले कुछ समय से एयरपोर्ट और बॉर्डर एरिया पर ड्रोन दिखने की वजह से देश की सुरक्षा एजेंसियां खतरा महसूस कर रही थीं और साथ ही अक्सर एयरपोर्ट पर ड्रोन या UAV दिखने की वजह से ट्रैफिक समस्या भी हो जाती थी। इसी को देखते हुए केंद्र सरकार जल्द ही NSG और CISF को इन्हें मार गिराने का अधिकार देने जा रही है।

बता दें कि देश में अभी तक ड्रोन, ग्लाइडर और UAV को लेकर कोई कानून नहीं है, ना ही इसका गलत प्रयोग करने वाले को सजा देने के लिए कोई कानून है। इसी वजह से अक्सर जहाज चला रहा पायलट ड्रोन सामने आने पर कुछ नहीं समझ पाता था और उसे खतरा महसूस होने पर ही सिक्योरिटी एजेंसियों को जानकारी देनी होती थी। लिहाजा इससे कई लोगों की जान खतरे में पड़ने की शंका थी। गृह मंत्रालय इसको लेकर एक कानून बनाने जा रहा है, ताकि ऐसे समय में इसे निपटने के लिए कुछ ठोस कदम उठाए जा सकें ।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि ड्रोन, ग्लाइडर और जैसी चीजे जिनसें आतंकवादी हमलों का डर हैं, उनसे निपटने के लिए जल्द ही एक नीति बनाई जाएगी । अधिकारी ने बताया कि मुद्दे पर बातचीत हो रही है और जल्द ही इस पर कानून बनाकर सार्वजनिक कर दिया जाएगा । कानून बनने पर कम उड़ान वाली चीजे, जिनसे खतरा महसूस होगा, उन्हें नष्ट करने का अधिकार दे दिया जाएगा ।

इसी मुद्दे को लेकर हाल ही में हुई मीटिंग, जिसमें केंद्रीय गृह सचिव, इंडियन एयरफोर्स के अधिकारी, सिविल एविएशन मिनिस्ट्री और CISF के अधिकारी मौजूद थे । इस मुद्दे पर योजना बनाई गई, जिसमें ये कहा गया कि ऐसे ड्रोन को मार गिराने का अधिकार  NSG और CISF को दिया जाएगा । कानून में यह भी तय किया गया है कि आतंकवादी समूह और अन्य देश विरोधी तत्व कम-उड़ान वाली चीजों का गलत प्रयोग ना कर पाएं । 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments