कैलाश मानसरोवर यात्रा पर नरम हुआ चीन, लेकिन ब्रह्मपुत्र को लेकर नहीं बदला स्टैंड

कैलाश मानसरोवर यात्रा पर नरम हुआ चीन, लेकिन ब्रह्मपुत्र को लेकर नहीं बदला स्टैंड

By: Sachin
September 12, 18:09
0
.

New Delhi: डोकलाम विवाद के बाद एक बार फिर भारत-चीन के संबंध बेहतर होते दिखाई दे रहे हैं। दरअसल, कैलाश मानसरोवर जाने वाले तीर्थयात्रियों के लिए चीन नाथुला दर्रा फिर से खोलने के लिए भारत से बातचीत करने को उत्सुक है।

गौरतलब है कि सिक्किम (डोकलाम) विवाद की वजह से चीन ने इस 'नाथुला पास' बंद कर दिया था, लेकिन अब विवाद सुलझने के बाद चीन फिर से इस विषय पर चर्चा करने को तैयार है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग इस बात की पुष्टि करते हुए कहा, 'चीन नाथुला पास को दोबारा खोलने और भारतीय तीर्थयात्रियों से जुड़े अन्य मुद्दों के संदर्भ में भारत के साथ वार्ता के लिए तैयार है।'

इसलिए ब्रह्मपुत्र पर डाटा साझा नहीं कर सकता चीन

वहीं चीन ने तकनीकि कारणों के चलते भारत के साथ ब्रह्मपुत्र पर डाटा शेयर करने से अभी मना कर दिया है, चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता शुआंग इसका कारण बताते हुए कहा, 'चीन ने लंबे समय तक नदी के आंकड़ों पर भारत का सहयोग किया है लेकिन, चीनी क्षेत्र में डाटा कलेक्शन स्टेशन को अपग्रेड करने और उसकी मरम्मत के चलते हम इस स्थिति में नहीं हैं कि डाटा कलेक्शन कर सकें और भारत से उसे शेयर किया जा सके।'

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments