रोहिंग्या मुस्लिमों से बांग्लादेश भी परेशान, वापस भेजना चाहता है म्यांमार, भारत से मांगी मदद

रोहिंग्या मुस्लिमों से बांग्लादेश भी परेशान, वापस भेजना चाहता है म्यांमार, भारत से मांगी मदद

By: Aryan Paul
September 11, 09:09
0
NEW DELHI:

बांग्लादेश भी रोहिंग्या मुस्लिमों के मुद्दे पर भारत का साथ चाहता है। भारत के साथ मिलकर बांग्लादेश रोहिंग्या को वापस म्यांमार भेजने के लिए दबाव बनवाना चाहता है। भारत की तरह बड़ी संख्या में बांग्लादेश में भी रोहिंग्या मुस्लिमों ने शरण ले रखी है।

यूनाइटेड नेशन्स के मुताबिक, म्यांमार से भागकर करीब 3 लाख रोहिंग्या मुस्लिमों ने बांग्लादेश में शरण ले रखी है । रोहिंग्या का कहना है कि आर्मी और राखिेने के बुद्ध मिलकर उन्हें निशाना बना रहे हैं ।  रोहिंग्या का आरोप है कि जानबूझकर उनकी हत्याएं की जा रही हैं। जबकि वहीं म्यांमार आर्मी का कहना है कि वो सिर्फ रोहिंग्या आतंकवादियों को निशाना बना रही है, आम लोगों के साथ कुछ नहीं किया जा रहा है।

बांग्लादेश के मंत्री ओबेदुल कादिर का कहना है कि पूरी दुनिया रोहिंग्या के मसले पर चिंता जाहिर कर रही है। भारत भी रोहिंग्या को लेकर अपना रुख जाहिर कर चुका है। ऐसे में बांग्लादेश की स्थिति चिंताजनक हैं, क्योंकि वे भी रोहिंग्या को म्यांमार डिपोर्ट करना चाहते हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा, ऐसे हालत में बांग्लादेश क्या करें । 

कादिर ने कहा कि भारत ने जिस तरह 1971 के मुक्ति संग्राम के दौरान भारत ने बांग्लादेश की मदद की थी, वे चाहते है कि इस मानवीय संकट में भी भारत उसी तरह बांग्लादेश की मदद करें। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में रोहिंग्या के पलायन को लेकर सबसे ज्यादा परेशान हैं, क्योंकि वहां रोहिंग्या काफी ज्यादा संख्या में हैं।

पीएम मोदी ने हाल ही में अपनी तीन दिवसीय म्यांमार यात्रा के दौरान कहा था कि वे देश में हो रही अतिवादी हिंसा में म्यांमार सरकार की मदद करना चाहते हैं। हाल ही में शरणार्थियों को लेकर इंडोनेशिया में किए जा रहे एक कार्यक्रम में भारत ने भाग लेने से मना कर दिया है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments